हमें चाहने वाले मित्र

20 अक्तूबर 2016

पंकज चौधरी ( आई.पी.एस)

पंकज चौधरी ( आई.पी.एस) एंव डीजीपी राजस्थान मनोज भट्ट जी आज जयपुर सर्किट हाउस (ख़ासा कोठी)  सुबह 9.30 राष्ट्रीय अनुसूचित आयोग के सदस्य माननीय राजु परमार के सम्मुख पेश हुये । कमीशन ने पंकज चौधरी को बुंदी जिले से ट्रांसफ़र एंव चार्जशीट मामले को गंभीरता से लिया है । कमीशन ने इस संबंध में तीन पेशियाँ पूर्व में निर्धारित की थी ।
1. उदयपुर दिनांक 30.12.15
2. जयपुर दिनांक 19.10.16
3. जयपुर दिनांक 29.10.16
पूर्व के दो पेशियों पर डीजीपी राजस्थान उपस्थित नहीं हुये ।कल दिनांक 19.10.16 को कमीशन ने पुलिस विभाग की लापरवाही एंव असंवेदनशीलता माना एंव डीजीपी के ख़िलाफ़ नोटिस जारी करने का मन बनाया पर मुखयालय ने आज उपस्थिति हेतु निवेदन पर आज पुन: सुनवाई हुयी । कमीशन ने दोनो पक्षों को सुना एंव डीजीपी को चेतावनी दी जब नैनवा साम्प्रदायिक तनाव के संबध में दो अधिकारियो ने रिपोर्ट दी तो तत्कालीन जूनियर अधिकारी पुलिस अधीक्षक (सतर्कता ) की रिपोर्ट को महत्व कैसे दे दिया गया ओर शासन को रिपोर्ट भेजा गया । कमीशन ने शासन के जवाब जिसमे बुंदी से पंकज चौधरी का ट्रांसफ़र महज़ प्रशासकीय आधार पर किया गया से नाराज़गी व्यक्त की ।अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस (रेलवे) जो उस समय कोटा रेंज के प्रभारी थे उनकी नैनवा तनाव पर दी गयी रिपोर्ट को सँज्ञान में नहीं लिया गया और पंकज चौँधरी को गलत मँशा से चार्जशीट दी गयी और दिल्ली ट्रांसफ़र कर दिया गया । अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस रेलवे ने नैनवा तनाव में पंकज चौधरी को क्लीनचीट दिया एंव उनके द्वारा किये गये प्रयास की सराहना की एंव यह भी बताया की पुलिस अधीक्षक बुंदी पंकज चौधरी की सक्रियता से ही सँभावित दंगा टला ।आज पुन: कमीशन ने डीजीपी को चेतावनी देते हुये प्रकरण का शीघ्र हल नयायोचित एंव मेरिट के आधार पर करने को निर्देशित किया ।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...