हमें चाहने वाले मित्र

25 जुलाई 2016

सिद्धू बोले- वे कहते हैं पंजाब से दूर रहो; ऐसा नहीं कर सकता था, इसलिए राज्यसभा छोड़ी



नई दिल्ली. राज्यसभा की मेंबरशिप से इस्तीफा देने के बाद चुप्पी साधने वाले नवजोत सिंह सिद्धू ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा, ''मुझे पंजाब छोड़ने को कहा गया था। मैं उसे कैसे छोड़ सकता हूं? इसलिए राज्यसभा से इस्तीफा दिया।'' बता दें 18 जुलाई को सिद्धू ने राज्यसभा और उनकी पत्नी ने पंजाब विधानसभा की मेंबरशिप से इस्तीफा दिया था। कहां जाएंगे, ये नहीं बताया...
- प्रेस कॉन्फ्रेंस में सिद्धू ने कहा, ''राज्यसभा से इस्तीफा मैंने इसलिए दिया, क्योंकि मुझे ये कहा गया था कि पंजाब कि तरफ मुंह नहीं करोगे। और पंजाब से तुम दूर रहोगे।''
- ''धर्मों में सबसे बड़ा धर्म राष्ट्र धर्म होता है। तो फिर कैसे सिद्धू अपना वतन छोड़ दे?''
- ''ये नफे-नुकसान की बात नहीं है। ये पहली बार हुआ हो तो भी नाकाबिले बर्दाश्त है। ये तो तीसरी-चौथी बार हो रहा है, जब मेरे साथ नाइंसाफी हुई।''
- बता दें कि पिछले दिनों नवजोत सिंह की पत्नी नवजोत कौर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि सिद्धू बीजेपी भी छोड़ चुके हैं।
- हालांकि, सोमवार को जब दिल्ली में सिद्धू से पूछा गया कि क्या उन्होंने पार्टी छोड़ दी है, तो उन्होंने इसका कोई जवाब नहीं दिया।
- नवजोत सिंह और नवजोत कौर, दोनों के आम आदमी पार्टी में शामिल होने की चर्चा है।
पहली बार इलेक्शन लड़ा तो सिर्फ 17 दिन थे
- सिद्धू ने कहा, ''जब पहली बार मैं अमृतसर से इलेक्शन लड़ा, मैं पाकिस्तान में कमेंट्री कर रहा था। मुझे कहा गया आप इलेक्शन लड़ो। 17 दिन बचे थे। मैंने कहा कि इतने कम दिन में कैसे चुनाव लड़ सकता हूं? 5-6 नेताओं के फोन मेरे पास आए।''
- ''फिर वाजपेयी साहब का फोन आया। बोले- मैदान में आकर लड़ो। 14 दिन में इलेक्शन लड़ा। 6 बार का कांग्रेस का एमपी था। सारे नौ विधायक कांग्रेस के थे। 14 दिन में अमृतसर के लोगों ने सवा लाख लोगों ने जिताया।''
- ''जब आंधियां चलती थीं तब तो सिद्धू जाए। जब मोदी लहर आई तो मुझे डुबो दिया।''
पूरे नॉर्थ इंडिया में अकेली सीट मैंने जीती
- ''जब केस पड़ा। केस पड़ते ही एक बड़े नेता ने कहा सरेंडर कर दो तो एक पर्सेंट चांस है कि दोबारा एमपी बन जाओ।''
- बता दें कि सिद्धू पटियाला में एक रोड रेज केस में गैरइरादतन हत्या के आरोपी थे। वे कोर्ट से बरी हो चुके हैं।
-''अमृतसर को वचन दिया जब तक आपका एमपी रहूंगा, पटियाला नहीं जाऊंगा। घर वाली का मुंह नहीं देखा। बच्चों का मुंह नहीं देखा।''
- ''अगले दिन बेल हुई। मोरल ग्राउंड पर मैंने दूसरी बार इलेक्शन लड़ा, फिर जीता।''
- ''तीसरे इलेक्शन में नॉर्थ इंडिया की 50 सीटों पर बीजेपी का अकेला सांसद सिद्धू था।''
- ''फिर वाइफ का इलेक्शन आया। हारी हुई सीट जीतकर दे दी।''
- ''जब मोदी साहब की लहर आई तो विरोधियों के साथ सिद्धू भी साफ हो गया। मुझे कुरुक्षेत्र और वेस्ट दिल्ली से टिकट देने की बात कही गई। मैंने मना कर दिया।''
- ''मुझे कहा गया पंजाब छोड़कर चले जाओ। मेरा कुसूर क्या है?''
- ''अगर मुझे 100 बार अपने परिजन, अपने परिवार, अपनी पार्टी और पजांब में से चुनने को कहा गया तो मैं सौ बार पंजाब को चुनूंगा।''
सेलिब्रिटी स्टेटस से केवल एक बार जीत सकते हैं
- सिद्धू ने कहा, ''सेलिब्रिटी स्टेटस के कारण केवल एक बार चुनाव जीता जा सकता है। चार बार नहीं।''
- ''मैं तीन बार खुद जीता और चौथी बार पत्नी को हारी हुई सीट पर जिताया।''
सिद्धू के आप में जाने को लेकर भी नहीं है स्थिति साफ
- प्रेस कॉन्फ्रेस में जिन दो सवालों पर सबकी नजर थी, उस पर सिद्धू ने कोई जवाब नहीं दिया।
- सिद्धू से जब AAP में जाने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने सिर्फ इतना कहा कि जहां पंजाब का हित होगा, सिद्धू वहां होगा।
- उन्होंने बीजेपी छोड़ने के बारे में भी कोई सीधा जवाब नहीं दिया।
- कहा जा रहा है कि सिद्धू कांग्रेस और आम आदमी पार्टी, दोनों के कॉन्टैक्ट में हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...