हमें चाहने वाले मित्र

03 मार्च 2016

इशरत जहाँ ऍन काउंटर

हाल ही में इशरत जहाँ ऍन काउंटर ,,अदालत में विचाराधीन मामले में ,,एक बहस चली है ,,चली क्या ,,चलाई जा रही है ,,एक उपेक्षित अधिकारी ,,जिसपर लापरवाही के आरोप होने से दंडित करने की जगह सरकार ने माफ़ किया आज ,,खुलकर बोल रहे है ,,इतने सालों बाद बोल रहे है ,,क्यों बोल रहे है ,,किसके कहने पर बोल रहे है ,,कोई पूंछने की ज़रूरत नहीं ,,लेकिन जो बोल रहे है उसकी तुलना ,,गुजरात पुलिस के एक आई ऐ एस से हरगिज़ नहीं करना चाहिए जो गुजरात में सरकार के रहते ,,सरकार के खिलाफ खुलकर बोले थे ,,जिन्हे बाद में जेल में सज़ा भुगतना पढ़ी थी ,,वोह झूंठे थे ,,बिलकुल झूंठे थे ,,क्योंकि ख़ास लोगों के खिलाफ बोल रहे थे ,,यह जनाब सच्चे है क्योंकि ख़ास लोगों के हक़ में बोल रहे है ,,लेकिन बात गंभीर है ,,प्रकरण अदालत में विचाराधीन है और अदालत की ट्रायल की जगह मिडिया ट्रायल चल रही है ,,, सी बी आई ,,सरकार के रवैय्ये पर गंभीर इलज़ाम है ,,इसलिए अब तो इसकी जांच सुप्रीम कोर्ट के दो जजों की खंडपीठ से ,,दो माह का समय देकर करवा ही लेना चाहिए ,,चिदंबरम दोषी निकलते है तो उन्हें सज़ा मिले ,,और अधिकारी जी उनके समर्थक मिडिया ट्रायल के पत्रकार वकील दोषी मिलते है तो उन्हें सज़ा मिलना ही चाहिए ,,देश में अधिकारीयों ,,जाँच एजेंसियों को जे ऍन यु सहित कई मामलों में हथियार के रूप में इस्तेमाल करने पर अब तो रोक लगना ही चाहिए ,,और ऐसा करने वालों को कठोर सज़ा मिले ऐसा क़ानून बनना ही चाहिए ,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...