हमें चाहने वाले मित्र

05 जनवरी 2016

पठान कोट पर ,,,आतंकवादी हमला ,,हमले में जवानो की शहादत ,

पठान कोट पर ,,,आतंकवादी हमला ,,हमले में जवानो की शहादत ,,लेकिन ,,जवानो की सतर्कता और बहादुरी के चलते ,एक बढ़ी साज़िश विफल ,,बात ,,आतंकवाद की है ,,पाक प्रायोजित आतंकवाद की है ,,इस आतंकवाद ,,हमले और शहीदो के नाम पर ,,, सियासत ,,आरोप प्रत्यारोप ,,साम्प्रदायिकता का नंगा नाच ,,,इस देश में फिर शुरू हो गया है ,,,,एक कहते है ,,आने वाले शेख अफज़ल रज़ाक थे ,,रमेश,, सुरेश नहीं ,,,दूसरे कहते है ,,इन्हे लेने तो ,,,पाकिस्तान नरेंद्र भाई गए थे ,,,,फिर कहते है ,,पहले,, इन आतंकवादियों को कश्मीर से लेकर ,,कंधार भी आप ही छोड़ कर आये थे ,,,,,,फिर आरोप लगते है ,,एक सिपाही के बदले,,, दस लोगों का सर,, लाने वाले प्रधानमंत्री जी ,,,आज चुप क्यों है ,,,कुछ अराष्ट्रवादी तत्व ,,इसे हिन्दू मुस्लिम की नज़र से देखते हुए नज़र आते है ,,कुछ के अल्फ़ाज़ों में ,,,शहीदों के लिए सच्चा दर्द नज़र आता है ,,,,वगेरा वगेरा ,,खेर देश में अराजक तत्व भी है ,,,तो अमन पसंद लोग भी है ,,बुद्धिहीन भी है ,,तो बुद्धिजीवी भी है ,, लेकिन सभी ,,लोग कमोबेश हिन्दू है,, तो हिन्दू बनकर रहना चाहते है ,,,मुसलमान है तो मुसलमान बनकर रहना चाहते है ,,,,कोंग्रेसी है तो कोंग्रेसी ,,भाजपाई है,,, तो भाजपाई ,, लीगी है तो लीगी ,,संघी है तो संघी ,,,बनकर रहना चाहते है ,,,,,,,,,,बढ़े अफ़सोस की बात है ,,,,देश में संकट आता है ,,देश पर हमला होता है ,,,,देश की आंतरिक समस्या होती है ,,उससे निपटने की जगह हम सियासत और धर्मान्धता का युद्ध शुरू कर देते है ,,,,ऐसा करके हम देश की,,, हिफाज़त नहीं कर रहे है ,,,सो कोल्ड राष्ट्रभक्त ,,,कहलाना अलग बात है ,,लेकिन राष्ट्रभक्त होना ,,,अलग बात है ,,क्या कांग्रेस ,,क्या भाजपा ,,क्या संघ ,,क्या लीग ,,क्या हिन्दू ,,क्या मुस्लिम,,, देश से गद्दारी सिखाते है ,,हां ऐसे वक़्त पर ,,,शासन का साथ देकर,,, उसके हाथ मज़बूत करने की जगह,, अगर हम खिल्ली उड़ाते है ,,आरोप प्रत्यारोप करते है,, तो हम ऐसे आतंकवादी ताक़तों के हाथ,,, मज़बूत करते है ,,क्योंकि यही तो,,, यह अलगाववादी चाहते है ,,और उनकी चाहत को हम ,,,ऐसे घिनोने आरोप प्रत्यारोप ,,नफरत के भाव फैला कर,,,, पूरा कर रहे है ,,नरेंद्र मोदी,,, सत्ता में नहीं थे,,, सिर्फ एक मुट्ठी भर छोटे से सूबे ,,,गुजरात के मुख्यमंत्री थे,, उन्हें ,,,अनतर्राष्ट्रीय हालातों का पता नहीं था इसलिए उन्होंने ,,पाकिस्तान के आगे ओबामा ,,ओबामा,,, करने का जोक कांग्रेस के खिलाफ कहा ,,नरेंद्र मोदी को पता नहीं था ,,के प्रधानमंत्री की कुर्सी पर बैठ कर ,,,एक वर्ग ,एक जाती ,,एक पार्टी ,,,एक धर्म के बारे में ,,सोच नहीं बनाई जा सकती ,,अंतर्राष्ट्रीय मुद्दो पर,, सबूतों के आधार पर ही ,,,कोई बढ़ी कार्यवाही हो सकती है ,,इसीलिए ,,उन्होंने कहा था के ,,पाकिस्तान में घुसकर ,,,हम एक के बदले ,,,दस लोगों के सर काट कर लाएंगे ,,हम और आप ,,वोटर बेवक़ूफ़ थे,, जो इन बातो में आये ,,लेकिन जज़्बात से,, काम नहीं चलता ,,देश ,,,अंतर्राष्ट्रीय क़ानूनो से बंधा है ,,सबूतों के आधार पर ही ,,,कोई कार्यवाही हो सकती है ,,यह सब जानते है ,,इसलिए ऐसे नाज़ुक वक़्त पर,,, हमे सरकार के हाथ मज़बूत करने की ज़रूरत है ,,,,,हमारा सोशल मिडिया की यह तकरार ,,आरोप प्रत्यारोप का माहोल ,,आँतकवादियो को ,,,मज़बूती दे रहा है ,,,हमारा यह काम ,,देश के हौसले पस्त करने जैसा है ,,,,,अभी देश को ,,हमारी ज़रूरत है ,,नरेंद्र मोदी को,, एक प्रधानमंत्री के नाते ,, हमारे हौसले ,,हमारे सुझावो की ज़रूरत है ,,,कांग्रेस तो एक महा समुन्द्र है ,,महान पार्टी है ,,उसके अनुभवी नेता ,,उसके अनुभवी लोग ,,,ऐसे वक़्त पर,,, नरेंद्र मोदी को अपने अनुभवों से बिना किसी आलोचना के मदद करे ,,,रास्ता दिखाए ,,देश को आतंकवाद से बचाये ,,देश को समस्याओ से बचाये ,,भाजपा भी दिल बढ़ा करे ,,,अब वोह सत्ता में है ,,,,खुद को समुन्द्र करे ,,,छोटी छोटी गंदी मछलियों से ,,,उसके शांत समुन्दर की लहरो को बचा कर रखे ,,,हम और आप को भी ज़िम्मेदारी निभाना है ,,ऐसे नाज़ुक मोड़ पर पार्टीबाजी छोड़े ,,धर्म मज़हब छोड़े ,,आरोप प्रत्यारोप छोड़े ,,एक दूसरे से मिले ,,मज़बूत ,, रचनात्मक सुझाव पेश करे ,,आलोचनाएँ बंद करे ,,हमारी आपसी ,,,वैचारिक सियासी लड़ाई है,,,इसे हम बाद में लड़ लेंगे ,,,पहले देश की बात करे,,, ,देश के लिए लड़े ,अगर देश में ऐसे ही होता रहा तो सोचिये हम कहा रहेंगे ,,,,,,,जब हमारा देश संकट में है तो हमे एक जुट होकर इस देश के बारे में ही सोचना होगा ,,यही हमारा फ़र्ज़ है ,,,नरेंद्र मोदी को उनके समर्थक सुझाव दे के कांग्रेस के वरिष्ठ अनुभवी लोगों से राष्ट्रहित ,,राष्ट्रिय सुरक्षा मामले में खुलकर बात करे ,,सुझाव मांगे और अच्छे सुझावों पर अमल भी करे ,,इन मुट्ठीभर एक,, दो ,,तीन ,,गिनती के आतंकवादियों की इतनी हिम्मत सिर्फ इसीलिए होती है के हम एक नहीं है ,,धर्म मज़हब ,,पार्टियों में बिखरे है ,,सियासत चुनाव के वक़्त हो ,,धर्म मंदिर मस्जिद में हो ,,,हमारा मंदिर ,,हमारी मस्जिद हिदुस्तान है ,,इसकी सुरक्षा ,, इसकी खुशहाली ,,अमन ,,चेन ,,सुकून ,,हमारी इबादत ,,हमारी पूजा होना चाहिए ,,मुझे पता है मेरे आलोचक इसमें भी कमिया निकालकर आलोचना करेंगे ,,लेकिन देश में अच्छे और बुरे लोग सभी तरह के है , एक दिन वोह भी मेरे इन विचारो से ज़रूर सहमत होंगे ,,ऐसा मेरा विश्वास ,,मेरा यक़ीन ,,मेरा भरोसा है ,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान
C ने महिंद्रा, टोयोटा और मर्सडीज से पूछा- क्या आपकी कारें ऑक्सीजन देती हैं? INDUSTRY TEAM | Jan 06, 2016, 06:42AM IST Print Email ...

Read more at: http://money.bhaskar.com/news-cppst/MON-INDU-COMP-sc-declines-to-lift-ban-on-diesel-cars-of-more-than-2000-cc-5214602-NOR.html
C ने महिंद्रा, टोयोटा और मर्सडीज से पूछा- क्या आपकी कारें ऑक्सीजन देती हैं? INDUSTRY TEAM | Jan 06, 2016, 06:42AM IST Print Email ...

Read more at: http://money.bhaskar.com/news-cppst/MON-INDU-COMP-sc-declines-to-lift-ban-on-diesel-cars-of-more-than-2000-cc-5214602-NOR.html

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...