हमें चाहने वाले मित्र

14 दिसंबर 2015

PAK दौरे पर संसद में बोलीं सुषमा- हरी साड़ी पहनने-उर्दू बोलने पर अजीब सवाल क्यूं?

सोमवार को संसद परिसर में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज।
सोमवार को संसद परिसर में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज।
नई दिल्ली. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अपने हालिया पाकिस्तान दौरे पर सोमवार को संसद में बयान दिया। राज्यसभा में उनके बयान पर कांग्रेस ने जमकर हंगामा किया। वहीं, लोकसभा में शोरगुल के बीच उन्होंने कहा, '' मेरे पाकिस्तान जाने की आलोचना करने वाले अजीब-अजीब आलोचना करते हैं। साड़ी का रंग हरा क्यूं था? उर्दू क्यों बोली? ...क्यूं न बोलती? उर्दू मेरे मुल्क की भी जुबान है।''
सुषमा ने और क्या कहा?
- पाकिस्तान के साथ इस नई बातचीत के दो उद्देश्य हैं।
- पहला- आपसी चिंता वाले विषयों पर रचनात्मक बातचीत के जरिये मसलों का हल निकालना।
- दूसरा- आपसी सहयोग वाले रिश्तों को स्थिर करना और इसके लिए नए रास्ते तलाशना।
- मेरे उर्दू बोलने, मेरी साड़ी का रंग हरा होने पर सवाल उठ रहे हैं।
- मैं बताना चाहती हूं कि मैं वहां नवाज शरीफ साहब की चार पीढ़ी से मिलीं। इसमें नवाज की मां, उनकी पत्नी, बेटी मरियम और मरियम की बेटियां शामिल थीं।
- फॉरेन पॉलिसी में ये चीजें अहमियत रखती हैं।
पाकिस्तान क्यों गई थीं सुषमा?
- बता दें कि सुषमा 9 अौर 10 दिसंबर को हार्ट ऑफ एशिया कॉन्फ्रेंस में हिस्सा लेने इस्लामाबाद गई थीं।
- इस दौरान उन्होंने पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ, विदेश मामलों में उनके एडवाइजर सरताज अजीज से मुलाकात की थी।
- इस मुलाकात में यह तय हुआ था कि भारत-पाक के बीच कॉम्प्रिहेंसिव कम्पोजिट डायलॉग प्रोसेस शुरू होगी।
- इसमें कश्मीर, मुंबई हमले और आतंकवाद जैसे मसलों पर दोनों देश बातचीत करेंगे।
- सुषमा ने नवाज की बेटी मरियम शरीफ से भी मुलाकात की थी।
संसद से UPDATES...
- 3:10 PM : राज्यसभा कल तक के लिए स्थगित।
- 2:50 PM : विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने लोकसभा में पाकिस्तान दौरे पर बयान दिया।
- 11:44 AM : हंगामे के कारण राज्यसभा की कार्यवाही फिर दोपहर 12 बजे तक स्थगित।
- 11:41 AM : बीएसपी चीफ मायावती ने कहा कि पंजाब का मामला बेहद गंभीर है। केंद्र सरकार इसे गंभीरता से ले और वहां की सरकार को बर्खास्त करे।
- 11:35 AM : राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि पंजाब में लॉ एंड ऑर्डर नहीं है। वहां की सरकार को तुरंत बर्खास्त किया जाना चाहिए।
- 11:34 AM : केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि हम भी पंजाब की घटना की निंदा करते हैं। राज्य सरकार वहां कार्रवाई कर रही है। हम भी चाहते हैं कि कार्रवाई हो।
- 11:32 AM : उपसभापति कुरियन ने हंगामा कर रहे सदस्यों से कहा, "आपका बर्ताव अलोकतांत्रिक है। मैं सदन की कार्यवाही स्थगित नहीं करूंगा।"
- 11:31 AM : राज्यसभा की कार्यवाही फिर शुरू हुई। कांग्रेस सांसदों की नारेबाजी जारी।
- 11:22 AM : राज्यसभा की कार्यवाही 11.30 बजे तक स्थगित।
- 11:21 AM : उपसभापति पी.जे. कुरियन ने कहा, "आपमें से कुछ लोग सदन को हाईजैक करने की कोशिश कर रहे हैं। कुछ मेंबर सदन को अपने तरीके से चलाना चाहते हैं।"
- 11:19 AM : उपसभापति ने कहा, "अगर आपको काेई दिक्कत है तो अपनी सीट पर जाएं। मैं आपको अपनी बात उठाने का मौका दूंगा।"
- 11:18 AM : विपक्ष ने राज्यसभा में हंगामा और नारेबाजी तेज की। ‘We want justice’ के नारे लगाए।
- 11:16 AM : राज्यसभा में सुषमा का बयान खत्म हुआ।
- 11:15 AM : लोकसभा में भी हंगामा। कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक स्थगित।
- 11:12 AM : सुषमा ने कहा- पाकिस्तान के साथ रिश्तों के नए दौर की शुरुआत हुई है।
- 11:10 AM : सुषमा ने कहा कि पाकिस्तान में हुई बातचीत के बाद दोनों देशों ने आतंकवाद की कड़ी निंदा की।
- 11:05 AM : सुषमा ने कहा- हमने पाकिस्तान से बातचीत में मुंबई हमले का मुद्दा उठाया। हमने पाकिस्तान से गुनहगारों के खिलाफ तेज कार्रवाई करने को कहा।
- 11:00 AM : सुषमा ने राज्यसभा में पाकिस्तान दौरे पर बयान की शुरुआत की।
- 10:30 AM : आम आदमी पार्टी और तृणमूल कांग्रेस के सांसदों ने संसद परिसर में धरना दिया।

शकूर बस्ती पर संसद में हंगामा, रेल मंत्री बोले- केजरीवाल आकर बहस कर लें
दिल्ली की शकूर बस्ती से झुग्गियां हटाए जाने को लेकर संसद में हंगामा हुआ। विपक्ष ने दोनों ही सदनों, राज्यसभा और लोकसभा में हंगामा किया। इस बीच, लोकसभा में रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि इस मामले पर अरविंद केजरीवाल बहस कर लें। बता दें कि केजरीवाल ने कहा था कि अतिक्रमण हटाए जाने के लिए भगवान रेलवे को माफ नहीं करेगा। (आगे की स्लाइड्स में देखेंः शकूर बस्ती को लेकर रेल मंत्री ने संसद में क्या कहा?)
रेल मंत्री की संसद में सफाई?

- दिल्ली पुलिस की मौजूदगी में बस्ती से अवैध कब्जा हटाया गया, ताकि यहां डेवलपमेंट का काम हो सके।
- अवैध कब्जा जमाने वालों को कई बार नोटिस दिया गया था। इसके बाद 10 दिसंबर को दिल्ली पुलिस ने एडवाइस दी कि सिक्युरिटी दी जाएगी। फिर बस्ती हटाई गई।
- अवैध कब्जे से गंदगी हो रही थी, जिसके बाद एनजीटी ने हमें आदेश दिया था कि बस्ती हटाई जाए। यदि केजरीवाल को लगता है तो तो वे आकर बहस कर सकते हैं।
- अवैध कब्जा हटाने के दौरान मौत नहीं हुई थी।
क्या है शकूर बस्ती मामला?
- शनिवार देर रात एक ट्वीट कर केजरीवाल ने आरोप लगाया था कि रेलवे ने शकूरबस्ती में 500 झुग्गियों को तोड़ दिया। (पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)
- जब एसडीएम से पीड़ित लोगों की मदद के लिए कहा गया तो उसने आदेश नहीं माना। तीन बड़े अफसरों को सस्पेंड किया गया।
- केजरीवाल ने यह भी कहा कि ठंड के मौसम में ऐसी कार्रवाई करने वाले रेलवे को भगवान भी माफ नहीं करेगा।
- उन्होंने यह भी कहा था, "इस बारे में जब रेल मंत्री सुरेश प्रभु से बात की गई तो उन्होंने भी मामले में कोई जानकारी नहीं होने की बात कही।"
- पूरे मामले को लेकर केजरीवाल ने शनिवार रात में कई ट्वीट किए।
बच्ची की मौत पर रेलवे ने क्या कहा?
रेलवे का इस मामले में कहना है कि बच्ची की मौत सुबह 10 बजे ही हो गई थी। इसका अतिक्रमण हटाए जाने से कोई लेना-देना नहीं है। रेलवे की जमीन खाली करने के लिए बस्ती के लोगों को पिछले 9 महीनों में कई नोटिस दिए गए थे, लेकिन उन्होंने उस पर ध्यान नहीं दिया।
बीजेपी ने कहा-राजनीति कर रहे हैं दिल्ली के सीएम
- दिल्ली बीजेपी प्रेसिडेंट सतीश उपाध्याय ने कहा, "केजरीवाल वोट के लिए बच्ची की लाश पर राजनीति कर रहे हैं। वे झुग्गीवालों का वोट हथियाने के लिए रेलवे, पुलिस और केंद्र सरकार को बदनाम कर रहे हैं। यह उनकी पुरानी आदत है।"
- बीजेपी नेता शाजिया इल्मी ने कहा, "केजरीवाल को कम से कम बच्चों की मौत पर राजनीति नहीं करनी चाहिए।"
पंजाब में दो लोगों के हाथ-पैर काटने की घटना के विरोध में विपक्ष का हंगामा
इधर, पंजाब में दो लोगों के हाथ-पैर काटे जाने के मुद्दे पर सोमवार को संसद में जमकर हंगामा हुआ। इस मुद्दे पर राज्यसभा को तीन बार स्थगित करना पड़ा। विपक्ष पंजाब सरकार को बर्खास्त करने की मांग कर रहा है। इससे पहले, हंगामे के बीच विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अपने हालिया पाकिस्तान दौरे पर बयान दिया।
क्या है मामला?

- पंजाब के अबोहर में शिरोमणि अकाली दल के करीबी शराब कारोबारी शिवलाल डोडा के फार्म हाउस पर शुक्रवार को दो युवकों के हाथ-पैर काट दिए गए।
- दोनों पर 3 दिसंबर को रेप का केस दर्ज हुआ था। इनमें से एक भीम टांक की इलाज के दौरान अमृतसर में मौत हो गई, जबकि दूसरे युवक गुरजंट सिंह उर्फ जंटा की हालत गंभीर है।
- मौत की खबर फैलते ही अबोहर में एक कम्युनिटी के लाेग इकट्ठे होकर सड़कों पर उतर आए। तलवारें-डंडे लेकर उपद्रव शुरू कर दिया। जबरन दुकानें बंद कराईं।
- कई जगह तोड़फोड़ की। भीड़ ने शराब ठेके को आग के हवाले कर दिया। अगले दिन कुछ लोगों ने एक और शराब ठेके को जला डाला।
- इस केस में डोडा के भतीजे सहित 11 लोगों पर केस दर्ज किया गया है। लेकिन आरोप है कि डोडा पर पंजाब पुलिस मेहरबान है।
- प्रदर्शन के दबाव में उसने डोडा पर केस तो दर्ज कर लिया, लेकिन अरेस्ट करने के बजाय डोडा की सुरक्षा बढ़ा दी। जबकि उन्हें पहले से ही गनमैन मिले हुए हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...