हमें चाहने वाले मित्र

20 अक्तूबर 2015

PAK की धमकी- भारत को जवाब देने के लिए हमने बना लिए छोटे एटमी हथियार

पाकिस्तान के फॉरेन सेक्रेटरी एजाज चौधरी।
पाकिस्तान के फॉरेन सेक्रेटरी एजाज चौधरी।
वॉशिंगटन. पाकिस्तान ने भारत को फिर धमकी दी है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के साथ अमेरिकी दौरे पर गए फॉरेन सेक्रेटरी एजाज चौधरी ने कहा है कि हमने भारत को जवाब देने के लिए छोटे एटमी हथियार बना लिए हैं। मंगलवार को वॉशिंगटन में प्रेस ब्रीफिंग के दौरान उन्होंने कहा, ‘‘भारत के कोल्ड-स्टार्ट डॉक्ट्रिन और हमले के खतरे से निपटने के लिए हमने छोटे एटमी हथियार डेवलप किए हैं।'' बता दें कि इससे पहले भी पूर्व प्रेसिडेंट परवेज मुशर्रफ और आर्मी चीफ राहिल शरीफ जैसे पाकिस्तान के पॉलिटिकल और मिलिट्री लीडर्स ने भारत को उकसाने वाले बयान दिए हैं।
क्या है 'कोल्ड स्टार्ट' डॉक्ट्रिन ?

> 2001 में संसद पर हमले के बाद इंडियन आर्मी ने ऑपरेशन 'पराक्रम' शुरू किया था। बॉर्डर पर इसके लिए स्पेशल प्लान बनाया गया था। लेकिन इसके बाद 2008 में मुंबई अटैक हो गया।
> इसके बाद फ्यूचर में पाकिस्तान की सरजमीं से साजिश के तहत किसी भी तरह का हमला रोकने के लिए इंडियन आर्मी ने नई पॉलिसी अपनाई।
> इस 'कोल्ड स्टार्ट' पॉलिसी के तहत आर्मी ने 'स्विफ्ट रिएक्शन' (तुरंत जवाबी कार्रवाई) की स्ट्रैटजी बनाई।
> कहा जाता है कि भारत ने 8 ऐसे इंडिपेंडेंट बैटल ग्रुप रखे हैं जो कि कभी भी रिस्पॉन्स करने की कैपिसिटी रखते हैं। पाकिस्तान के काउन्टर अटैक को रोकने के लिए कुछ घंटे के भीतर ये ग्रुप उसी की जमीन पर कार्रवाई की कैपिसिटी रखते हैं।
> इस डॉक्ट्रिन के पीछे एक सोच यह भी थी कि इंडियन आर्मी काफी बड़ी है। ऐसे में अगर पाकिस्तान की तरफ से कोई हमला होता है तो तुरंत जवाब देने के लिए छोटे ग्रुप्स होने चाहिए। इसके लिए पॉलिसी ऐसी होनी चाहिए जो जवाबी कार्रवाई के दौरान न तो पाकिस्तान की फौज को तैयार होने का कोई मौका दे, न ही भारत की पॉलिटिकल लीडरशिप को ज्यादा सोचने का वक्त दे।
एजाज ने और क्या कहा?

> एजाज ने कहा कि पाकिस्तान भारत की प्रो-एक्टिव स्ट्रैटजी का मुकाबला करने के लिए तैयार है।

> भारत के किसी भी हमले का जवाब देने के लिए हमने एटमी हथियार बनाए हैं।

> फिलहाल पाकिस्तान अमेरिका के साथ कोई न्यूक्लियर डील नहीं करने जा रहा है।
पाकिस्तान के परेशान होने की क्या ये हैं तीन वजहें?
पाकिस्तानी आर्मी ने अगस्त के आखिर में अपने मुल्क की पार्लियामेंट्री कमेटी के सामने कहा था कि उसके लिए देश के बाहर भारत के अलावा कोई और खतरा नहीं है। पाकिस्तानी आर्मी लगातार भारत की हथियारों की खरीदी से भी परेशान नजर आ रही है।
1. भारत हथियारों की खरीद में सबसे आगे
> भारत ने पिछले कुछ सालों में 6,31,700 करोड़ रुपए (100 बिलियन USD) के हथियार खरीदे हैं।
> अखबार डॉन की खबर के मुताबिक, भारत ने 80% हथियार पाकिस्तान को टारगेट करने के लिए खरीदे हैं।
> पाकिस्तान की मिलिट्री का कहना है कि इंडियन आर्मी 'खरीददारी की होड़' में ऐसा कर रही है। बता दें कि भारत आर्म्स इम्पोर्ट के मामले में दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश है।
2. भारत का डिफेंस बजट भी पाकिस्तान से तीन गुना ज्यादा
> पिछले 10 साल में भारत ने अपनी मिलिट्री पर खर्च को भी दोगुना कर दिया है। इस साल भारत ने डिफेंस बजट 2.46 लाख करोड़ रुपए (40.07 बिलियन USD) रखा है।
> यह पाकिस्तान से तीन गुना ज्यादा है। पाकिस्तान का डिफेंस बजट 78 हजार करोड़ रुपए है।
> भारत के पास नेवी वॉरशिप और टैंक भी पाकिस्तान से करीब-करीब तीन गुना ज्यादा हैं।
3. हर जंग में पाकिस्तान ने भारत से मुंह की खाई
> पाकिस्तान ने 1947 के संघर्ष, 1965 और 1971 की जंग और 1999 में कारगिल वॉर में भारत से करारी हार का सामना किया है।
> पाकिस्तान जानता है कि वह जंग में कभी भी भारत से नहीं जीत सकता।
तीन साल पहले पाकिस्तान के पास भारत से 10 न्यूक्लियर बम ज्यादा थे
> बुलेटिन ऑफ द एटॉमिक साइंटिस्ट ने मार्च में जारी अपनी एक रिपोर्ट में बताया था कि किन देशों के पास कितने न्यूक्लियर बम हैं।
> रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान के पास 110 न्यूक्लियर बम हैं, जबकि भारत के पास 100 बम हैं। हालांकि, ये आंकड़े 2012 के मुताबिक बताए गए थे। तीन साल में हालात कितने बदले हैं, इस बारे में कोई आंकड़ा नहीं है।
देश न्यूक्लियर बम
भारत 90-100
पाकिस्तान 100-110
चीन 250
अमेरिका 7300
रूस 8000

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...