हमें चाहने वाले मित्र

05 अक्तूबर 2015

आडवाणी का मोदी पर इशारों में हमला, कहा- दादरी पर बोलूंगा तो अटलजी नाराज होंगे

लालकृष्ण आडवाणी की फाइल फोटो।
लालकृष्ण आडवाणी की फाइल फोटो।
आगरा. गौतमबुद्धनगर जिले के दादरी इलाके में गोमांस खाने की अफवाह के बाद अखलाक नाम के शख्स की हत्या के मुद्दे पर बीजेपी के सीनियर लीडर लालकृष्ण कुछ नहीं बोले। एक कार्यक्रम में शामिल होने सोमवार को आगरा पहुंचे आडवाणी ने कहा- कुछ बोलूंगा तो अटलजी को अच्छा नहीं लगेगा। लेकिन उन्होंने केंद्र सरकार पर निशाना साधा। वहीं, केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री रामशंकर कठेरिया और यूपी बीजेपी के अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने इस मामले में आजम खान को आड़े हाथों लिया। (बीजेपी लीडर आदित्‍यनाथ ने पूछा- आजम सुअर भी खाते हैं क्‍या?)
'जो हो रहा है, वह कमी दिखाता है'
'मेरी कहानी-मेरी जुबानी' किताब की रिलीज के मौके पर ये सभी नेता आगरा पहुंचे थे। दादरी में हुई घटना के बारे में आडवाणी से जब पूछा गया तो उन्होंने कहा, 'मैं दादरी मामले में कुछ नहीं बोलना चाहता। अगर मैं कुछ बोलूंगा तो अटलजी को अच्छा नहीं लगेगा।' उन्होंने हालांकि केंद्र में अपनी ही पार्टी की सरकार को भी कठघरे में खड़ा कर दिया। उन्‍होंने कहा, 'आजकल जो भी हो रहा है, वह बीजेपी सरकार में कमी को दिखाता है। इस पर गौर करने की जरूरत है। सरकार काम कर रही है, लेकिन आगे और बहुत कुछ करना होगा।' बता दें कि कई बार ऐसी खबरें आ चुकी हैं कि पीएम नरेंद्र मोदी और आडवाणी के बीच रिश्ते तल्खी के दौर से गुजर रहे हैं।
मुझे हिंदी नहीं आती
आमतौर पर आडवाणी को हिंदी का जबरदस्त वक्ता माना जाता है, लेकिन उन्होंने कार्यक्रम में ये खुलासा भी किया कि उन्हें सिंधी और अंग्रेजी के मुकाबले हिंदी कम आती है। आडवाणी ने कहा कि वह मिशनरी स्कूल में पढ़े हैं। ऐसे में अंग्रेजी बेहतर जानते हैं। सिंधी होने के नाते इस भाषा पर भी उनकी पकड़ है। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि सिंधी को साल 1700 तक देवनागरी भाषा में लिखा जाता था।
कठेरिया-वाजपेयी का आजम पर निशाना
आगरा से सांसद और मोदी सरकार में मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री रामशंकर कठेरिया और यूपी बीजेपी अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी इस मसले पर यूपी के कैबिनेट मंत्री आजम खान पर निशाना साधने में पीछे नहीं रहे। कठेरिया ने कहा कि जांच इसकी होनी चाहिए कि आजम खान का मानसिक संतुलन बिगड़ा हुआ है या नहीं। वहीं, लक्ष्मीकांत ने आजम की तुलना कांग्रेस के नेता दिग्विजय सिंह से की। उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह की ही तरह आजम भी बयानबाजी कर रहे हैं।
आजम ने बाबरी कांड से जोड़ा था
रविवार को यूपी के मंत्री आजम खान ने अपने सरकारी लेटर हेड पर बयान जारी कर दादरी की घटना को बाबरी कांड से जोड़ा था। आजम ने कहा था कि गोभक्तों को बीफ बेचने वाले पांच सितारा होटलों की ईंट से ईंट ठीक उसी तरह बजानी चाहिए, जैसी बाबरी मस्जिद के साथ हुई थी।
सपा नेता ने भी दिया था भड़काऊ बयान
आजम खान का बयान आने के बाद देवबंद नगरपालिका चेयरमैन और सपा के नेता माविया अली ने भी भड़काऊ बयान देते हुए कहा था कि अगर कोई साध्वी प्राची की हत्या कर देता है, तो ये जायज होगा। बता दें कि साध्वी प्राची ने दादरी मसले पर कहा था कि जो गोमांस खाएगा, उसका हश्र अखलाक जैसा ही होगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...