हमें चाहने वाले मित्र

18 अक्तूबर 2015

बीफ पर बयानों से मोदी नाराज, शाह ने खट्टर-सोम-साक्षी को बुलाकर दी वॉर्निंग

फाइल फोटोः साक्षी महाराज, मनोहर लाल खट्टर और संगीत सोम। (बाएं से दाएं)
फाइल फोटोः साक्षी महाराज, मनोहर लाल खट्टर और संगीत सोम। (बाएं से दाएं)
नई दिल्ली. गोहत्या, दादरी कांड और बीफ पर बीजेपी नेताओं के विवादित बयानों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नाराज हैं। कई मीडिया रिपोर्ट्स में यह दावा किया गया है। सूत्रों के मुताबिक, इसी मुद्दे को लेकर रविवार को बीजेपी प्रेसिडेंट अमित शाह ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, सांसद साक्षी महाराज, मेरठ के सरधना के एमएलए संगीत सोम, केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान और महेश शर्मा को बीजेपी हेडक्वार्टर पर तलब किया। माना जा रहा है कि इस मीटिंग में शाह ने उन्हें आगे इस तरह की बयानबाजी से परहेज करने की वॉर्निंग दी। हालांकि, मीटिंग के बाद संगीत सोम ने कहा कि वे पार्टी से जुड़े मुद्दों पर चर्चा करने के लिए अमित शाह से मिले। बातचीत के टॉपिक के बारे में उन्होंने कोई जानकारी नहीं दी।
शाह ने क्या कहा?
>सूत्रों के मुताबिक, शाह ने नेताओं को कहा कि नेताओं की इस तरह की बयानबाजी से मोदी सरकार का डेवलपमेंट का एजेंडा पीछे रह जाएगा।
>शाह ने यह भी कहा कि दादरी की घटना यूपी में कानून-व्यवस्था की नाकामी को जाहिर करती है और इसका बीजेपी से कोई लेनादेना नहीं है।
>शाह के मुताबिक, बीजेपी नेताओं के इन बयानों की वजह से लोगों और मीडिया का फोकस सपा सरकार से हटकर बीजेपी पर आ गया।
बीजेपी नेताओं के विवादित बयान
हाल के दिनों ने बीजेपी नेताओं ने बीफ पर कई बयान दिए।
खट्टर ने कहा- मुस्लिम इस देश में रह सकते हैं, लेकिन उन्हें बीफ खाना छोड़ना होगा
खट्टर ने अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में कहा, ‘गाय, गीता और सरस्वती देश के बहुसंख्यक समुदाय के लिए धार्मिक विश्वास के प्रतीक हैं। मुस्लिम रहें, मगर इस देश में बीफ खाना छोड़ना ही होगा उनको। यहां की मान्यता है गऊ।’ हालांकि, बाद में सीएम बयान से मुकर गए। सफाई भी दी। बीजेपी ने उनके बयान से किनारा कर लिया। (
मां का अपमान हुआ तो मर जाएंगे-मार देंगे : साक्षी महाराज

बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने कहा- हमारी मां का कोई अपमान करेगा तो हम मर जाएंगे। सहन नहीं करेंगे। हम मर जाएंगे-मार देंगे। हमारी भारत माता की तरफ कोई ऊंगली उठाता है तो हमारे लोग शहीद होते हैं। सामने वाले को मारते भी हैं। जैसे शरीर को जन्म देने वाली मां है, वैसे ही हमारी भारत माता है, वैसे ही हमारी गो-माता हैं। गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित किया जाए और उसके हत्यारों को फांसी देनी चाहिए। साक्षी ने शनिवार को भी एक बयान दिया। 
जो बीफ खाए, वह बीमार : आदित्यनाथ
बीजेपी सांसद महंत आदित्यनाथ ने बीफ विवाद पर कहा था- अगर कोई गोमांस खाने की वकालत करता है तो मैं उसे मानसिक विकृति मानता हूं। उसका इलाज होना चाहिए। यूपी सरकार ने दादरी की घटना का राजनीतिकरण किया है। मैंने अखबार में पढ़ा है कि वो व्यक्ति (अखलाक) पाकिस्तान गया था और उसके बाद से उसकी गतिविधियां बदल गई थीं। क्या सरकार ने ये जानने की कभी कोशिश की कि ये व्यक्ति पाकिस्तान क्यों गया था? आज उसे महिमामंडित किया जा रहा है। इस घटना को यूएन में ले जाने की बात करना शर्मनाक है।
गाय काटने वालों को यूपी सरकार हवाई जहाज में बैठाती है : संगीत सोम
विवादों में रहने वाले बीजेपी विधायक संगीत सोम ने भी बीफ पर बयान दिया। उन्होंने दादरी घटना पर पिछले दिनों कहा- यूपी में हम कहते आ रहे हैं कि गोहत्या रोकें। लेकिन यहां सरकार कुछ नहीं कर रही। बिसहड़ा में भी गोकशी के बाद हिंसा हुई। यूपी सरकार गाय काटने वालों को हवाई जहाज में बैठाकर लखनऊ ले जाती है और 50 लाख रुपए भी देती है।
महेश शर्मा ने वारदात को बताया था गलतफहमी का नतीजा
कल्चर मिनिस्टर महेश शर्मा ने दादरी की घटना को गलतफहमी का नतीजा बताते हुए दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया था। उन्होंने इस मामले को साजिश मानने से इनकार कर दिया था।
बीफ पार्टी देने वाले MLA को J&K विधानसभा में बीजेपी विधायकों ने पीटा

बीफ के मुद्दे पर ही विधायक आपस में भिड़ गए। वह भी विधानसभा के अंदर। यह वाकया पिछले दिनों जम्मू-कश्मीर में हुआ। एक इंडिपेंडेंट एमएलए की विधानसभा के अंदर ही बीजेपी विधायकों ने पिटाई कर दी। निर्दलीय विधायक इंजीनियर शेख अब्दुल राशिद ने एक बीफ पार्टी दी थी। राशिद के इसी कदम से बीजेपी के विधायक नाराज थे। जैसे ही विधानसभा की कार्यवाही शुरू हुई, बीजेपी विधायक राशिद से भिड़ गए।
क्या हुआ था दादरी में?
28 सितंबर को यूपी के दादरी के बिसहड़ा गांव में 52 साल के मोहम्मद अखलाक की पीटकर हत्या कर दी गई। उसके 22 साल के बेटे दानिश को अधमरा कर दिया गया। आरोप है कि इससे पहले गांव के मंदिर से एलान किया गया कि अखलाक का परिवार न केवल बीफ खाता है, बल्कि घर में स्टोर करके भी रखता है। इसके बाद, भीड़ ने अखलाक के घर पर हमला कर दिया था।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...