हमें चाहने वाले मित्र

23 अक्तूबर 2015

दोस्तों मेरा हिन्दुस्तान जल रहा है ,,भाजपा सरकार अटूट बहुमत के बाद भी रावण की तरह अठाहस कर रही है

दोस्तों मेरा हिन्दुस्तान जल रहा है ,,भाजपा सरकार अटूट बहुमत के बाद भी रावण की तरह अठाहस कर रही है ,,जो वायदे भाजपा ने देश और देश के लोगों से किये उन्हें भाजपा ने पुरे करने की जगह जुमला कहकर  टाल दिए ,,दलितों पर अल्पसंख्यकों खासकर मुस्लिम समाज पर अत्याचार हो रहे है ,,दलितों को ज़िंदा जलाया जा रहा है ,,नंगा किया जा रहा है ,,निहत्थे मुस्लिमों को घेर का मारा जा रहा है ,,सिक्खो के धर्म ग्रन्थ    को अपमानित किया जा रहा जा रहा है  ,,देश की एकता ,,अखंडता ,,सीमाओं की सुरक्षा खतरे में है ,,देश के कांग्रेस के स्वदेशी विचारधारा  वाले नेता सरदार   वल्लभ भाई पटेल की मूर्ति चीन में बनाकर उनकी   आत्मा को  ठेस पहुंचाई जा रही है ,,हिंदुस्तान खतरे में है ,,लेकिन हम खामोश है ,,,पार्टियो में बनते हुए है ,,हम लोगों की मदद करने की जगह इनमे चुनावी मुद्दे ढूंढ रहे है ,,,चुनाव के नफे नुकसान का हिसाब लगा रहे है ,,,ऐसे ही हालात मेरे राजस्थान मेरे कोटा के है ,,में प्रदेश कांग्रेस कमेटी अल्पसंख्यक विभाग के कोटा संभाग का चेयरमेन हूँ ,,में एक हिन्दुस्तानी ,,एक मुसलमान ,,एक कोंग्रेसी हूँ ,,मेने क़ुरआन भी पढ़ा  है  ,,हिन्दुस्तान भी पढ़ा है ,,संविधान भी पढ़ा है ,,कांग्रेस का संविधान भी पढ़ा है ,,,,देश के हालात भी जाने है ,,मेरे लिए अल्लाह सबसे बढ़ा है ,,फिर हिन्दुस्तान है ,  फिर मेरी कॉम है  ,फिर मेरी कांग्रेस है ,,फिर मेरा राजस्थान ,,फिर मेरा कोटा ही मेरे लिए सब कुछ है   ,,वर्तमान हालातों में कोटा का विकास सोंदर्यकर्ण संकट में है ,,,एक तरफ महारानी वसुंधरा सांसद ओम बिरला द्वारा एयरपोर्ट शुरू करने की घोषणा का विरोध करती है ,,तो दूसरी तरफ कोटा को मंत्री पद हो या फिर जन्पर्तीिनिधित्व है इस मामले में कंगाल कर दिया है ,,यहां कोई नेतृत्व नहीं ,,कोटा का विकास थम गया है ,,कोटा की स्मार्ट सिटी का सपना कागज़ की किताब बनता जा रहा है ,,यहां प्रहलाद गुंजल जो भाजपा का तेरत्व था उसे नीजी दुश्मनी के चलते उनके सियासी बढ़ते हुए क़दम रोकने के लिए हाईकमान ने नौकरशाह के नाम पर दूध में से मक्खी की तरह निकाल दिया है ,यह मेरे कोटा के विकास ,,कोटा के सोंदर्यकर्ण ,,कोटा की जनता के लिए घातक है जो मुझे कतई बर्दाश्त नहीं ,,कल मेने कोटा की जनता का क्या क़ुसूर है ,,इस मामले में प्रह्लाद गुंजल की शख्सियत के साथ एक कड़वा सच भरा आलेख लिखा ,,जिसमे जितनी अक़्ल थी ,,मेरे प्रति जो मनोविकार थे ,,रंजिश थी ,,प्यार था उसी तरीके से इस आलेख को पढ़ा ,,खूब सराहा भी तो ,उपहास भी उड़ाया ,,एक कोंग्रेसी और भाजपा के प्रह्लाद गुंजल जिसे दूध में से मक्खी की तरह भाजपा ने दबंग होने के बाद कोटा के   विकास की उम्मीद होने के बाद भी निकाल फेंका है ,,,कोटा सिसक रहा है ,,कोटा बिलख रहा है ,,कोटा की विकास की डोर  थमी पढ़ी है ऐसे में कोटा का विकास तो भाजपा का विधायक ही करेगा ,,कांग्रेस तो कोटा का विकास वर्तमान हालातों में करने से रही इसलिए प्रह्लाद गुंजल मज़बूत हो ताके कोटा वासियों के काम हो सके कोटा में कांग्रेस ने विकास के जो सपने देखे थे वोह अधूरे पढ़े सपने पुरे हो सके ,,,,,,,दोस्तों प्रह्लाद गुंजल वोह शख्सियत है जिसे कांग्रेस हाईकमान कोटा से सांसद का  टिकिट देना चाहते  थे ,,कोटा के शीर्ष नेतृत्व ने इसकी सहमति दी थी ,,राजस्थान का शीर्ष नेतृत्व इसके लिए तैयार    तैयार था ,,किसी ने इस नेतृत्व से सवाल नहीं किया ,,,कांग्रेस के शासन में मुस्लिम समाज के नेतृत्व नईमुद्दीन गुड्डू को    कांग्रेस का बहुमत होते हुए जिला प्रमुख का  टिकिट दिया   ,लेकिन मेरे कोंग्रेसी भाइयो आपके ही दिग्गज कोंग्रेसियो के इशारे पर मुस्लिम विरोधी नीति अपनाकर डॉन कांग्रेस के वोटर इन्ही प्रह्लाद गुंजल की गोद में जा बैठे इन प्रह्लाद गुंजल के प्रत्याक्षी विद्याशंकर नंदवाना को इन्होने कांग्रेस के कुछ नेताओ के दम पर ही जिताया ,,तब आपने कोई ऐतराज़ नहीं जताया ,,अपने अपने भाईसाहबों जहां आप हाथ बांधे खड़े रहते हो ,,उनसे कभी पलट कर नहीं पूछा क्या भाईसाहब भाजपा में जा रहे है   ,,,रामगंजमंडी में एक पार्षद का टिकिट राजस्थान  के बढ़े नेता ने दिलवाया और वोह भाजपा की गोद में  जा बैठे ,,,केशोराय  पाटन में कोंग्रेसी पार्षद वोट देने नहीं गए ,,कृषि उपज मंडी में खुद कोंग्रेसियों ने कांग्रेस को हरवा दिया ,,कांग्रेस के प्लॉक अध्यक्ष और सरपंच दिलदार के मामले में कांग्रेस ने कोई प्रदर्शन नहीं किया ,,सभी कोंग्रेसी सदस्यों ने दिलदार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पास नहीं किया तब किसी ने सवाल नहीं किया के यह लोग क्या भाजपा में जा रहे है  ,,,राजस्थान में कांग्रेस के शासन में भाजपा के नेताओ के साथ कई कोंग्रेसी दिग्गजों के व्यापारिक रिश्ते रहे ,,कई भाजपाइयों की तो कोंग्रेसियो के साथ आर डी बर्मन ,,सलीम जावेद की तरह जोड़ी भी प्रसिद्ध हो गई ,उन लोगों से आपने फलसफा और क्या वोह भाजपा में जा रहे है नहीं पूंछा ,,,दोस्तों इन्ही प्रह्लाद गुंजल के साथ मिलकर आपके कांग्रेस मित्रो ने सहकारिता चुनाव ,,,कृषि उपज मंडी चुनाव सहित कई चुनाव में कांग्रेस प्रत्याक्षी के खिलाफ हाथ मिलाया है ,,अभी आपके भाईसाहबों ने इनके भाई के खिलाफ कोटा डेरी में प्रत्याक्षी ही नहीं उतारे ,,निर्विरोध निर्वाचित करवा दिया ,,,चुनाव में इन प्रह्लाद जी से  कोंग्रेसी नेताओ की विडिओ वायरल हुई है ,,,,,लाडपुरा में कांग्रेस प्रत्याक्षी नईमुद्दीन गुड्डू को हराने के लिए हमारे अपने किस  तरह की खिचड़ी पकाते है एक होटल इस मामले में आज भी गवाह है ,,,,,,,दोस्तों प्रह्लाद गुंजल कांग्रेस में आ रहे है और अगला चुनाव वोह कांग्रेस से लड़े तो कोई बढ़ी बात नहीं ,,,कांग्रेस महासमुंद्र है यहां सभी लोग आते है ,,,आप जानते है कांग्रेस के शीर्ष पदों पर आज भी  राष्ट्रिय ,,राज्य और जिला स्तर पर कई भाजपा कैडर के लोग बैठे है उनसे कभी आपने सवाल नहीं किया ,,कोटा में कांग्रेस के पार्षदों ने भाजपा के प्रत्याक्षी को वोट दिया ,,घंटाघर मुस्लिम इलाक़े में कांग्रेस का टिकिट नहीं दिया ,,,,जिन पार्षदो को टिकिट दिया उनमे से एक ने तो कांग्रेस का टिकिट ठुकरा कर भाजपा से चुनाव लड़ा ,,,तीन अपराधी थे दो ने टिकिट बेच दिए फ़ार्म ही नहीं भरा ,,तो दोस्तों इन कोंग्रेसियो से आपने सवाल नहीं किया ,,आज जो कांग्रेस है आप बैठक बुलाये ,,कांग्रेस कार्यालय पर जाकर परेड कराये ,,दस फीसदी से ज़्यादा पदाधिकारी अगर उपस्थित मिले तो में जीवन भर लिखना छोड़ दूंगा ,,दोस्तों कांग्रेस एक महासमुंद्र है और आने वाले कल का फिर भविष्य है ,,कांग्रेस राजस्थान में दोसो में से दोसो पर आएगी ,,लेकिन घर बैठे नहीं एक दूसरे के खिलाफ  टिप्पणी करने से नहीं ,,एक दूसरे की टांग खेंचने से नहीं ,,कांग्रेस को कांग्रेस बनाओ ,,अभी कांग्रेस में कितने प्रकोष्ठ है ,,मंच है कोई  उँगलियों पर गिना कर बताये फिर खुद को कोंग्रेसी कहे ,,,दलित ,,मुस्लिम ,,किसान जो कांग्रेस से दूर हुए है उन्हें फिर से कांग्रेस में कैसे जोड़ा जाए इस पर विचार करो ,,कहो कोंग्रेसियो से के मुस्लिमों की समस्याएं उठाने से इसलिए मत डरो के हिन्दू वोटर्स नाराज़ हो जाएंगे ,,हिन्दुओं की  समस्या उठाने से इसलिए मत डरो के मुसलमान नाराज़ हो जाएंगे ,,कांग्रेस महासमुंद्र है ,,एक क़ानून ,,एक विधान से बंधी है उसे इसी तरह से चलाओं ,,,यहां कोटा में कांग्रेस से लोगों को जोड़ो ,,कई लोग भाईसाहब के गुलाम है उन्हें कांग्रेस से कोई लेना देना नहीं ,,उनके भाईसाहब अगर आज कांग्रेस छोड़ दे तो वोह भी  अपने भाई साहब के साथ कांग्रेस छोड़ भाजपा में चले जाएंगे ऐसे लोगों को तो कोंग्रेसी कहने में भी शर्म महसूस होती है ,,,कोटा में पंकज मेहता कांग्रेस  को ज़िंदाबाद किये हुए है ,,शान्ति धारीवाल किसानो की आवाज़ उठाकर कांग्रेस को मज़बूत करते है ,,भरत सिंह गाँव की समस्या उठाकर कोटा में कांग्रेस ज़िंदाबाद करते है ,,,नईमुद्दीन  गुड्डू लाडपुरा के लोगों की आवाज़ उठाते है ,,ऐसे आवाज़ उठाओ एक बनो ,,मज़बूत बनो ,,भाईसाहबों के छद्म गुलामी भरे नेतृत्व से निकल का शुद्ध कोंग्रेसी बनो ,,आप कोंग्रेसी बनोगे तो सभी भाईसाहब आपके होंगे ,,कांग्रेस अध्यक्ष ,,प्रदेश अध्यक्ष ,,राष्ट्रिय अध्यक्ष आपकी बात  सुनेंगे ,,,मुझे पता है इस लेख पर आपकी कोई  टिप्पणी नहीं होगी ,,,,दोस्तों देश बचाना है तो भाईसाहब के  गुलाम कोंग्रेसी नहीं कांग्रेस के संविधान वाले कोंग्रेसी बनो ,,कांग्रेस बचेगी ,,देश बचेगा ,,कांग्रेस ज़िंदाबाद होगी ,,,,दलित और मुस्लिमों से ,,अल्पसंख्यको से कांग्रेस में बैठे लोग जो नफरत करते है ,,छुआछूत वाला व्यवहार करते है उन्हें समझाओ के ऐसे नहीं ,,कांग्रेस को ज़िंदाबाद करने के लिए इनका पर्तीिनिधित्व  और हक़ इन्हे देना ही होगा ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,, मुझे पता है इस पर किसी की टिप्पणी नहीं आना है लेकिन फिर भी मेरे दोस्तों जिन हालातो ने  कांग्रेस को मुर्दा कर दिया उन हालातों को बदल कर कांग्रेस फिर से ज़िंदाबाद तो करना ही है ,,,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...