हमें चाहने वाले मित्र

02 अक्तूबर 2015

हमारा देश एक गहरी सोची समझी साज़िश का शिकार हो रहा है

हमारा देश एक गहरी सोची समझी साज़िश का शिकार हो रहा है ,,कुछ लोग है जो नरेंद्र मोदी के खिलाफ है ,,कुछ लोग है जो देश में अराजकता चाहते है ,,कुछ लोग है जो देश में कटटरता भड़का कर देश का विकास रोकना चाहते है ,,,देश में साम्प्रदायिकता का ज़हर घोलना चाहते है ,,ऐसे लोग सभी समाजो में शामिल हो गए है ,,,एक पूर्वनियोजित षड्यंत्र के तहत ऐसे लोग मंदिर तोड़ कर ,,मस्जिदो में अफरा तफरी मचा कर ,,,गो माता के नाम पर लोगों को भड़का कर ,,गो माता का मांस अन्यंत्र फिकवाकर देश को नफरत की आग में धकेलने के प्रयासों में जुटे है ,,यह लोग इस कामके लिए ग्रामीण क्षेत्र के गरीबों और दिमाग से थोड़े विक्षिप्त लोगों का इस्तेमाल कर रहे है अगर वक़्त रहते ऐसे लोगों को बेनक़ाब कर कड़ी सज़ा नहीं दी तो यह लोग मेरे इस महान भारत को कहीं कुछ् कहने सुनने लायक भी नहीं छोड़ेंगे क्योंकि यह वोह लोग है जो हमारे संविधान से नफरत करते है ,,हमारे देश के नवनिर्माण करने वालों से नफरत करते है ,,देश से अंग्रेज़ों को भगाने वाले गांधी से नफरत करते है ,,यह वोह लोग है जो देश के तिरंगे से नफरत करते है ,,यह वोह लोग है जो देश के राष्ट्रगान से नफरत करते है ,,सिर्फ नफरत नफरत नफरत यही इनका ईमान ,,यही इनका धर्म है ,,ऐसे लोग किसी धर्म ,,किसी समाज के नहीं सिर्फ और सिर्फ शैतानी समाज के है ,,इन्हे खोजना ज़रूरी है इनकी कहीं न कहीं विदेशो से फंडिंग है ,,,,कोई साजिशकर्ता मुल्क के यह एजेंट के रूप में काम करते हुए मेरे इस भारत महान की महानता पर ,,मेरे इस सारे जहाँ से अच्छा हिंदुस्तान हमारा ,,,विचार पर बट्टा लगाना चाहते है ,,कुछ लोग है जो कहते है राष्ट्रगान किसी अँगरेज़ की स्तुति में लिखा गया है इसे बदल दो बंद कर दो ,,कुछ लोग है जो कहते है वन्दे मातरम ,है माँ तुझे सलाम ,,देश के लिए नहीं बल्कि अंग्रेज़ो की माँ हुक्मरान क्वीन एलिज़ाबेथ की स्तुति में लिखा गया है इसलिए अंग्रेज़ो की माँ क्वीन एलिज़ाबेथ की स्तुति में लिखा भारत के इस राष्ट्रिय गीत को बदल दो ,,किस किस को बदलोगे ,,किस किस मार्ग का नाम बदलोगे ,,कौन कौनसा इतिहास बदलोगे ,,,किस इमारत को गिराओगे ,,,,,क्या लाल क़िले का नाम पीला क़िला रख सकते हो ,,क्या ताज महल का नाम बदल सकते हो ,,,तुम इतिहास बदल सकते हो ,,सब कुछ बदल सकते हो ,,क्योंकि तुम्हारा दिमाग ,,तुम्हारा दिल ,,तुम्हारे विचार देश से नफरत करने वाले है ,,इसीलिए तो पिछले दिनों कुछ कथित गो माता के समर्थको को मध्यप्रदेश में गो मांस के साथ पकड़ा गया वोह इस मांस को किसी मंदिर में फेंक कर विवाद फैलाना चाहते थे ,,पिछले दिनों बुर्के में एक कथित गो समर्थको के समाज की महिला गणेश जी की मूर्ति खरीदते वक़्त मिडिया को फोटु खिजवाते हुए पकड़ी गई ,,हाल ही में बूंदी के एक मंदिर में शिव जी की प्रतिमा को खंडित करने वाले एक हिन्दू मानसिक रोगी को पकड़ा गया ,,कोन है यह षड्यंत्रकारी ,,कौन है इनके पीछे क्या ऐसे लोगों को समाज के सामने बेनक़ाब नहीं होना चाहिए ,,,,कोन है वोह लोग जो भाजपा समर्थित कश्मीर सरकार में पाकिस्तान ज़िंदाबाद के नारे लगा रहे है ,,हमारे तिरंगे झंडे को जला रहे है क्या उन्हें पकड़ना नहीं चाहिए ,,दोस्तों कुछ गिनती के शरारती तत्व जो सभी समाजो में है ,,वोह सिर्फ अफवाहें फैलाकर ,,,झूंठ बोलकर षडंयंत्र रचकर साम्प्रदायिक माहोल गरमाना चाहते है ताके फिर वोह अपनी सियासी और समाजी ,,कटटरपंथी की दूकान चलाये कोई इस नाम पर विधायक बने तो कोई इस नाम पर सांसद बने ,,कोई इस नाम पर पार्षद बने तो कोई इस नाम पर बढ़े बढ़े सरकारी ठेके ले ,,,आम लोगों से समाज की सुरक्षा और मदद के नाम पर मंदिर मस्जिद दरगाह निर्माण के नाम पर करोड़ों करोड़ रूपये का चंदा एकत्रित कर हिसाब भी ना दे ,,,,दोस्तों देश ऐसे लोगों के साथ नहीं है ,,देश का क़ानून ऐसे लोगों के साथ नहीं है ,,देश का प्रधानमंत्री ऐसे लोगों के साथ नहीं है ,,अराजकता फैलाने वाले शरारती तत्वों के राज्यों के मुख्यमंत्री ऐसे नहीं है ,,ऐसे लोगों के समर्थन में हमारी चुप्पी है ,,ख़ामोशी है ,,हमारी सोयी हुई राष्ट्रभक्ति है ,,हमारे प्रतिपक्ष के नेता है जो वोट की सिया की सियासत की वजह से ऐसे गंभीर मामलों में खामोश रहकर सिर्फ तमाशबीन बने है ताकि देश में ज़ुल्म करने वाले ज़ालिमों का उनका वोट बैंक नहीं बिगड़े क्योंकि वोह जानते है के मज़लूम जिसके साथ अयाचार हुआ है वोह वोट बैंक तो हमारा गुलाम था गुलाम है गुलाम रहेगा ,.,,तो दोस्तों नफरत फैलाने वालों के खिलाफ आवाज़ उठाओ ,ऐसे षड्यंत्रकारी गिरोह का पर्दाफाश करो ,,ऐसे सियासी लोगों को बेनक़ाब करो जो वोटों के लिए ऐसे लोगों को हवा दे रहे है या इन मुद्दो पर प्रतिपक्ष में रहकर भी खामोश बैठे है ,,,कुछ करो मेरे इस भारत महान की महानता बचाने के लिए आगे आओ ,,मेरे साथ आओ ,,मेरे जैसे कई करोड़ भाई है उनके साथ मिलजुलकर एक नया सैद्धांतिक इतिहास बनाओ ,,एक नया क़ानून बनाओ ,,,एक नया समाज बनाओ ,,,एक आदर्श हिन्दुस्तान बनाओ ,,आओ आओ आओ प्लीज़ आओ आपका स्वागत है ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...