हमें चाहने वाले मित्र

18 सितंबर 2015

गले लगकर सोने का नया बिजनेस, एक घंटे में कमा लेती हैं 3 हजार रुपए

अपने कस्टमर के साथ जैकी सैमुअल।
अपने कस्टमर के साथ जैकी सैमुअल।
रॉचेस्टर। नींद का मजा लेते ये दोनों किसी आम कपल के जैसे ही नजर आ रहे हैं, लेकिन घंटे भर बाद ये तस्वीर बदल भी सकती है। हो सकता है कि एक घंटे बाद जैकी सैमुअल किसी दूसरे पुरुष के साथ ये बेड शेयर कर रही हों। दरअसल, न्यूयॉर्क के रॉचेस्टर की रहने वाली 32 वर्षीय जैकी सैमुअल एक प्रोफेशनल कडलर (गले लगाने वाली) हैं। वो इस तरह अनजान मर्दों की स्नगलिंग (लिपटकर सोना) के जरिए मदद कर अपनी पढ़ाई और बेटे का खर्च उठा रही हैं। वो रोजाना यूं सोने के बदले में 360 डॉलर (करीब 14 हजार रु.) और एक घंटे के 60 डॉलर (करीब साढ़े 3 हजार रु.) लेती हैं।
पढ़ाई का निकाल रहीं खर्च
पैसों की कमी के चलते जैकी ने स्नगलिंग (लिपटकर सोना) के इस प्रोफेशन को अपनाया। उनका कहना है कि इसमें कुछ भी बुरा नहीं है। मुझे अपनी पढ़ाई और अपने बच्चे के लिए यह काम करना पसंद है। जैकी एक हफ्ते में सैनिकों से लेकर पेंशनर तक तकरीबन 30 पुरुषों के साथ इस तरह वक्त बिताती हैं। कई बार आने वालों में महिलाएं भी होती हैं।
प्रोफेशन को बुरा मानते हैं लोग
जैकी के अनुसार, इस दौरान किसी भी तरह की अश्लील हरकत पर पाबंदी है। साथ ही, अंडरगारमेंट्स से ढके शरीर के किसी भी हिस्से को छूने पर पाबंदी है, लेकिन फिर भी लोग इस पेशे को बुरा मानते हैं। हालांकि, मेरे बिजनेस से ज्यादातर लोग बेखबर हैं, लेकिन इस प्रोफेशन के चलते कॉलेज से उसे निकाले जाने की धमकी भी मिली थी। वहीं, उसके क्लासमेट्स उसे वेश्या तक बुलाते हैं।
ऑनलाइन करती हैं प्रचार
जैकी बताती हैं कि उसके कुछ पुराने कस्टमर ऐसे हैं, जिनकी पत्नियों की मौत हो चुकी है। कुछ ऐसे भी हैं, जो पहली बार लड़की के साथ सोना का अनुभव लेना चाहते हैं। कुछ अपनी घरेलू परेशानियों से घिरे हैं। जैकी अपनी सर्विस का ऑनलाइन प्रचार भी करती हैं। उनका कहना है कि प्रोस्टीट्यूशन का बिजनेस इससे कहीं ज्यादा आसान है, क्योंकि कडलर में अपने को ज्यादा केंद्रित करना होता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...