हमें चाहने वाले मित्र

16 अगस्त 2015

सोनू निगम ने कहा- राधे मां से कम कपड़ों में तो काली मां को दिखाया जाता है


मुंबई. बॉलीवुड के पॉपुलर प्लेबैक सिंगर सोनू निगम ने खुद को देवी कहने वाली सुखविंदर कौर उर्फ राधे मां का बचाव करते हुए विवादित बयान दे दिया है। उन्होंने ट्विटर पर राधे मां का सपोर्ट करते हुए लिखा, "काली मां को तो राधे मां से भी कम कपड़ों में दिखाया जाता है। दिलचस्प बात है कि देश एक महिला पर उसके कपड़ों के कारण केस दर्ज करना चाहता है।"
इतना ही नहीं सोनू ने साधुओं पर भी निशाना साधा है। उन्होंने लिखा है, "साधू सड़कों पर नंगे घूम सकते हैं। अजीब-ओ-गरीब तरीके से डांस कर सकते हैं, लेकिन उन्हें रेप के चार्ज लगने के बाद ही जेल में डाला जाता है। क्या यह जेंडर इक्वलिटी है?"
सोनू ने इसके साथ यह सलाह भी दी है कि यदि केस दर्ज करना ही है तो उनपर करो, जो इन्हें भगवान बना देते हैं। महिला और पुरुषों के लिए अलग-अलग नियम सही नहीं हैं।
कौन हैं राधे मां?
राधे मां का असली नाम सुखविंदर है। उनका जन्म 4 अप्रैल 1965 में भारत-पाक सीमा पर बने छोटे-से गांव दोरंगला में हुआ था। राधे मां की शादी 18 साल की उम्र में मनमोहन सिंह से हुई थी। शादी के बाद राधे मां के पति कतर की राजधानी दोहा में नौकरी के लिए चले गए। बदहाली की हालत में सुखविंदर ने लोगों के कपड़े सिलकर गुजारा किया। 21 साल की उम्र में वे महंत रामाधीन परमहंस के शरण में जा पहुंचीं। परमहंस ने सुखविंदर को छह महीने तक दीक्षा दी। जिसके बाद उनका नाम राधे मां पड़ गया और वह मुंबई चली गईं।
राधे मां पर ये है आरोप
खुद को देवी का अवतार बताने वाली राधे मां के खिलाफ मुंबई के बोरीवली इलाके में केस दर्ज हो चुका है। राधे मां पर एक महिला को उसके पति और ससुरालवालों से प्रताड़ित करवाने का आरोप लगा है। बोरीवली पुलिस ने इस मामले में राधे मां समेत 7 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। इस मामले में राधे मां से मुंबई में पुलिस पूछताछ भी कर चुकी है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...