हमें चाहने वाले मित्र

30 जुलाई 2015

पूर्व RAW चीफ बोले- याकूब और अफजल की फांसी हमारे किसी काम की नहीं

पूर्व  रॉ चीफ एएस दुल्लत। (फाइल फोटो)
पूर्व रॉ चीफ एएस दुल्लत। (फाइल फोटो)
चंडीगढ़ । आईबी के स्पेशल डायरेक्टर और रॉ के चीफ रह चुके एएस दुल्लत ने कहा कि ‘याकूब मेमन और अफजल गुरू दोनों की ही फांसी सुरक्षा के नजरिए से हमारे किसी काम की नहीं। इससे देश को काई फायदा नहीं होता। इससे हमें कुछ हासिल नहीं हुआ। बल्कि इससे कुछ लोगों (माइनॉरिटी) का दिल जरूर दुख गया होगा। इससे कश्मीर में भी बुरा असर पड़ सकता है। वहां के लोगों की साइकी पर असर पड़ेगा। इसका ये मतलब कतई नहीं है कि वहां कोई गोलियां चल जाएंगी यहा उपद्रव होगा लेकिन ये बात उनके दिल में घर कर सकती है।’

एएस दुल्लत वीरवार को अपनी किताब ‘कश्मीर: द वाजपेयी ईयर्स’ की लॉन्चिग के लिए चंडीगढ़ पहुंचे थे। याकूब के मामले में पूछने पर बेबाक होकगर बाेले। कहा-‘मैं मानता हूं कि ट्रायल फेयर रहा होगा। ज्यूडिशियरी भी फेयर है। लेकिन बात अगर उसकी फांसी की है तो दैट इज ए वेस्ट। हमारे किसी काम की नहीं। अगर सीबीआई चीफ कहते हैं कि कोई डील नहीं हुई तो मानना चाहिए कि नहीं हुई होगी।’ सवाल उठता है कि जब कोई आपकी मदद कर रहा है तो बदले में आपको भी उसके बारे में सोचना चाहिए या नहीं। इसी वजह से बी.रमन ने अपने लेख में लिखा होगा कि याकूब को फांसी नहीं होनी चाहिए क्योंकि उसने इस केस में हमारी मदद की है। मुझे अफसोस इस बात का है कि अगर वे याकूब के बारे में अपने विचार लिख गए थे तो उनका सम्मान किया जाना चाहिए था। यही हिम्मत उन्होंने 2007 में इसे सार्वजनिक करने में भी दिखाई होती तो बात कुछ और होती।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...