हमें चाहने वाले मित्र

11 जुलाई 2015

एक क्रूर बाप ,,एक क्रूर परिवार

एक क्रूर बाप ,,एक क्रूर परिवार जिसने अपनी मासूम विधवा ,,,मासूम पोतियों की सम्पत्ति हड़पने के लिए देहरादून में पुत्र का फ़र्ज़ी मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाया ,,,,,,,,एक ज़ालिम बाप जिसने रमज़ानों के महीने में पंचवकता नमाज़ी अपने पुत्र के जनाज़े की क़ब्र को दोबारा खुदवाया ,,उसे अपमानित किया ,,इतना ही नहीं क़ब्र में पहले से ही फर्जीवाड़ा षड्यंत्र किया ,,,दोस्तों देहरादून की एक नौजवान बेटे की क़ब्र जिसे बाप ने बहु पोतियों की सम्पत्ति हड़पने के लिए खुद के सामने ,,खुद की मौजूदगी में पोस्टमार्टम किये गए पुत्र की क़ब्र को फिर आरोपित कर खुदवाया ,,देहरादून की इस क़ब्र में सुखी मिटटी थी ,,बारिश के महीने में मिटटी में ज़रा भी नमी नहीं थी ,,इतना ही नहीं क़ब्र के ऊपर डाली गई मिटटी दफनाते वक़्त वाली मिटटी नहीं थी ,,मिटटी में दूसरी किसी की क़ब्र की खोपड़ी और हड्डियां ,,,बाल ,,कफन का कपड़ा कैसे आया इसका किसी के पास कोई जवाब नहीं है ,,,देहरादून स्थित चंद्रनगर के चारदीवारी वाले इस क़ब्रिस्तान में कैसे यह गड़बड़ी हुई कोई बताने को तैयार नहीं है ,,एक क़बर की मिटटी पूरी सूखी फिर उस मिटटी के साथ किसी अज्ञात व्यक्ति का सर हड्डिया आपराधिक षड्यंत्र का एक महत्वपूर्ण हिस्सा माना जा रहा है ,,,,,,,,,,दोस्तों एक बाप जिसने अपने बेटे को हमेशा नोट छापने की मशीन समझकर उससे हर माह रूपये खाने का एक ज़रिया समझा ,,पुत्र के रुपयों से खुद सम्पत्ति खरीद्द्ते रहे ,,,लगातार पुत्र के घर पर जाकर मीठी मीठी बाटे कर उससे पुत्रियां होने की वजह से पुत्र प्राप्ति के लिए दूसरी शादी के बारे में उकसाते रहे ,,,,बहु के ज़ेवर ,क़ीमती सामान अपने साथ ले जाते रहे ,,कई खाली कागज़ों पर हस्ताक्षर करवाकर ले जाते रहे ,,वही पिता परिवार उनकी मौजूदगी में पुत्र की आकस्मिक मोत पर कहानियां गढ़ने लगा ,, पोस्टमार्टम कराने से इंकार करने लगा ,,लेकिन पुलिस से बहु पक्ष ने कहकर पोस्टमार्टम करवाया ,,, स्वर्गीय पुत्र का पिता की मौजूदगी में पोस्टमार्टम हुआ ,,जाँच हुई मोत आकस्मिक दिल में क्लॉट हो जाने से होना स्पष्ट हुआ ,,,शव देहरादून खुद पिता द्वारा ले जाया गया ,,,,पिता और दूसरे रिश्तेदारों की मौजूदगी में उनके निजी खानदानी क़ब्रिस्तान में दफनाया गया ,,,दफनाने के दिन से ही पिता पुत्र के मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए लालायित हो उठा दिल्ली में मृत्यु और पिता देहरादून से मृत्युप्रमाणपत्र मृत्यु स्थान गलत तरीके से दिल्ली के स्थान पर देहरादून में होना दर्शाकर मृत्यु प्रमाण पत्र बनाने की कोशिशों में जुट गया और फ़र्ज़ी कूटरचित दस्तावेज तैयार भी कर लिए ,,इस क्रूर पिता ने अपनी पोतियों को उठाने मरवादेने की धमकिया दी बहु को अपमानित किया ,,जबरन दस्तावेजों ,,स्टाम्पों पर हस्ताक्षर कुछ करवाये और कुछ पर इंकार कर देने पर गाली गलोच की ,,लड़ाई झगड़ा किया ,,बदनाम करने ,,तेज़ाब डालने ,,झूंठे मुक़दमों में फंसा देने की धमकिया देकर पहने हुए कपड़ों में इद्दत अवधि में घर से बाहर निकाल दिया ,,,,,,,,,,,,,,,, देहरादून से दिल्ली आने पर भी इस ससुर और रिश्तेदारों ने लालच नहीं छोड़ा ,,देहरादून की सम्पत्ति पर तो हड़पकर हाथ साफ़ कर ही लिया लेकिन पुत्र की मृत्यु के बाद बहु के ज़ेवर हड़प लिए ,,बैंक खातों में से रूपये निकाले ,,,कार्यालय में फर्जीवाड़ा कर ई मेल के के ज़रिये रूपये हड़पने की कोशिश की ,,मृतक पुत्र के खातों से छेड़छाड़ ,,बहु के खातों से छेड़छाड़ की ,,कांटेंक्ट किलर और जासूस पीछे लगाये ,,अपने रिश्तेटर के ज़रिये अवैध रूप से टेलीफोन नियमों के विपरीत कॉल डिटेल निकलवाना शुरू की ,,फ़र्ज़ी फेसबुक एकाउंट तैयार किये ,,कूटरचना का पूरा प्रयास किया ,,डॉक्टर रिश्तेदारों ने पुलिस डॉक्टर पर दबाव बनाने के लिए धमकाया ,,बी बी सी के एक संवाददाता रिश्तेदार ने बी बी सी के लोगों का दुरूपयोग कर पुलिस पर दबाव बनाया ,,,एस डी एम को गलत जानकारिया दी ,,एक पुलिस अधिकारी की सिफारिश लगवाई ,,,,,,,,,,पत्रकारों को एक तरफा कहानी बताकर लोगों को भर्मित करने का प्रयास किया ,,,,,,,,,,,,,,,डॉक्टर परिवार के साथ मिलकर रिपोर्ट के छेड़छाड़ का प्रयास किया ,,,,,,,,एक क्रूर बाप जो अपनी विधवा बहु ,,मासूम पोतियों को लड़की होने की सज़ा देने के लिए क्रूरतम व्यवहार कर उसके स्वर्गीय लाडले पति की क़ब्र बेवजह खुदवाता है ,,उसमे खोपड़ी हड्डियां रखवाते है ,,ऐसे आपराधिक षड्यंत्र वाला ससुर जो अपने पुत्र का फ़र्ज़ी स्थान दर्शाकर निजी स्वार्थ के लिए क़ानून का दुरूपयोग कर क़ानून को धोखा देते हुए फ़र्ज़ी मृत्यु प्रमाणपत्र देहरादून से बनवाता है और उस प्रमाणपत्र को शिकायत करने के बाद भी देहरादून नगरनिगम ,, देहरादून कलेक्टर को प्रभावित कर ख़ारिज नहीं होने देता ,,,,,एक क्रूर ससुर जो अपनी बहु के शेयर फ़र्ज़ी हस्ताक्षर से बेच देता है ,, एक चाचा ससुर जो पेशे से चिकित्सक है ,,,एक चाचा ससुर जो कबाड़ी है दिल्ली की एस डी एम कोर्ट में डंके की चोट पर क़ानून को अपनी जेब में रखते हेु विधवा बहु के ससुर के फ़र्ज़ी हस्ताक्षर कर दस्तावेज प्राप्त करते है ,,शिकायत होती है कार्यवाही नहीं होने देते ,,,,,,ऐसे ज़ालिम लोगों के खिलाफ दोस्तों एक विधवा बहु ,एक बेसहारा पोतियों की पुकार है उन्हें आपकी मदद और दुआओं की ज़रूरत है ,,,,आप दिल्ली पुलिस से ऐसे लोगों के खिलाफ कार्यवाही करवाने का प्रयास करे ,,देहरादून पुलिस और कलेक्टर नगरनिगम में कार्यवाही गलत तरीके से करने पर ऐसे लोगों के खिलाफ मुक़दमा दर्ज करवाकर दंडित करवाये ,,,,,,दिल्ली और देहरादून की जो भी समाज सेवी संस्थाए ,,महिला सुरक्षा में जुटे समाजसेवी हो ,,जो भी पत्रकार हो प्लीज़ प्लीज़ इस मामले में आगे आये मदद करे दस्तावेजी सुबूत के साथ ऐसे क्रूरतम लोगों का गंदा चेहरा लोगों के सामने ऊजागर करे ,,एक बेबस ,,लाचार विधवा बहु और उसकी बेटियों को सुरक्षित करे ,,उनका हिस्सा ,,उनके हड़पे हुए ज़ेवर ,,सामान ,,उनका सम्पत्ति का हक़ उन्हें दिलवाए और अब तक जो इन लोगों की फ़र्ज़ी कूटरचना ,, काल्पनिक कहानिया बी बी सी के इनके रिश्तेदार संवाददाता के प्रभाव में जो प्रकाशित की है उसकी तहक़ीक़ात कर मुंह तोड़ जवाब दीजिये ,,जो अधिकारी बेईमानी पूर्वक इनकी मदद कर दूसरे अधिकारीयों को दबाव में लेना चाहता है उन्हें बेनक़ाब कीजिये ,,एक बेटी एक बहु उसकी बेटियों को प्लीज़ इन्साफ दीजिये ,,,इंसाफ दीजिये ,,,,,,,,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...