हमें चाहने वाले मित्र

30 जुलाई 2015

वादा करो.......वादा करो.....वादा करो

चीखते रहोगे......चिल्लाते रहोगे
दुहाइयां देते रहोगे.........
रहम की भीक मांगते रहोगे.......!!
लेकिन सब अनसुनी कर दी जायेगी
और अनसुनी भी क्यूं ना कर दी जाय.............!!!
चौराहों पर चिल्लाने से, चाय की दूकानों पर अफसोस जताने से, फेसबुक पर स्टेटस लिखने से........तुम्हे अगर ये लगता है कि तुम्हे इन्साफ मिल जायेगा तो तुम बहुत बडे मुग़ालते में हो !!
ग़लतफ़हमी है तुम्हे
ये जो ग़ुस्सा दिख रहा है ना आज तुम्हारे चेहरे पर
ये जो सिस्टम का तमाचा पडा है ना आज तुम्हारे गाल पर
आज ये......कोई और.....परसों कोई और
ज़रा सोचो तुम हो ही कहां.......?
बस चीखने से ये गूंगा बहरा सिस्टम तुम्हारा दर्द नहीं सुनेगा......लिख के ले लो !!
जिस्म बोल रहा है......उस आवाज को पहचानो
वो तुमसे कह रहा है
कि अगर बचाना चाहते हो अपनी नस्लों को
तो पढो.....तालीम हासिल करो
न तुम वकालत पढते हो.......न तुम सिविल सर्विसेज का हिस्सा बन पाते हो
ना ही देश की मीडिया का हिस्सा बन पाते हो
अदालतों में भी तुम नहीं हो !
जिस्म बोल रहा है तुमसे...........!!!
उठो और जिन्दगी के 5 साल वक्फ कर दो इस नाइन्साफी को इन्साफ में बदलने के नाम
चीख चीख कर पुकार रहा है
इस दर्द को , इस बेचैनी को , इस आग को
बदल दो लोगों को बेदार करने में
आओ क़सम खाओ.........
इस नाइन्साफी के बदले में..........कहीं चीखोगे नहीं........।।
चुप हो जाओगे.....होंठ सिल लोगे
और आने वाले दस सालों में
सैंकडों अच्छे वकील......सैकडों आई ए एस , आई पी एस पैदा करोगे
जज पैदा करोगे
वादा करो मुझसे........
वादा करो
उस फांसी पर लटकते हुए बेजान जिस्म से
वादा करो.......वादा करो.....वादा करो

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...