हमें चाहने वाले मित्र

19 जुलाई 2015

6 साल में तीन राज्यों में 16 बच्चियों को अगवा कर किया रेप, हत्या कर लाशें फेंकी


6 साल में तीन राज्यों में 16 बच्चियों को अगवा कर किया रेप, हत्या कर लाशें फेंकी
 
नई दिल्ली. बच्चियों के साथ रेप के बाद उनका मर्डर करने के आरोप में गिरफ्तार किए गए आरोपी रविंद्र कुमार (24) ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। पुलिस के मुताबिक, पेशे से बस कंडक्टर रविंद्र ने पूछताछ के दौरान बताया कि वह 2009 से लेकर अब तक दिल्ली, हरियाणा और यूपी में इस तरह की 15 और वारदात को अंजाम दे चुका है। वह अमूमन 3 से 4 चार साल की बच्चियों को निशाना बनाता था। आरोपी ने यह भी बताया कि वह शराब के नशे में ही बच्चों से रेप करता और फिर उनका कत्ल कर देता था।
कबूला जुर्म
आरोपी यूपी के बदायूं का रहने वाला है। फिलहाल वह दिल्ली के उत्सव विहार इलाके में रह रहा था। रविंद्र ने बताया कि वह बच्चों को टॉफी या पैसों से लुभाता था। इसके बाद, उन्हें सुनसान जगह पर ले जाकर रेप करता था और बाद में गला घोंटकर उनकी हत्या कर देता था। इसके बाद, लाशों को नालों में बहा देता था या खेतों में दफना देता था। पुलिस के मुताबिक, रविंद्र का इन वारदात में हाथ होने के पर्याप्त सबूत हैं। पुलिस पूछताझ में आरोपी रविंद्र ने यह भी बताया कि वह यह सारे काम शराब के नशे में करता था। जब उससे पूछा गया कि छोटे -छोटे बच्चों का गला घोंटते वक्त उसे किसी तरह का पझतावा नहीं होता था। इसपर रविंद्र ने बताया कि वे इस तरह की वारदातों को शराब के नशे में अंजाम देता था। नशे की हालत में ही वह छोटे छोटे बच्चों को अपनी हवस का शिकार बनाता और उसके बाद गला घोंटकर उनकी हत्या कर देता था। इसके बाद वह उनकी लाशों को या तो खेतों में फेंक दिया करता था या कहीं दफना देता था।
कैसे पकड़ा गया
बाहरी दिल्ली के डीसीपी विक्रमजीत सिंह के मुताबिक, बेगमपुरा में एक छह साल की बच्ची 14 जुलाई को गायब हो गई थी। बाद में उसका शव घर से पचास मीटर दूर एक अधूरे बने तीन मंजिला मकान में मिला था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बच्ची की हत्या से पहले रेप किए जाने के सबूत मिले थे। मौके से पुलिस को एक ड्राइविंग लाइसेंस मिला था। इसके आधार पर रविंद्र कुमार को शुक्रवार को पकड़ा गया।
निठारी कांड की दिलाई याद
रविंद्र का केस सामने आने के बाद निठारी कांड की यादें ताजा हो गईं। 2005 से 2006 के बीच नोएडा से सटे निठारी में लापता हुई बहुत सारी लड़कियों को अगवा करके मारपीट और उनकी हत्या करने का मामला सामने आया था। इस मामले में सुरेंद्र कोली को मौत की सजा सुनाई गई, जो बाद में उम्रकैद में तब्दील हो गई।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...