हमें चाहने वाले मित्र

23 जून 2015

पढ़े और ग़ौर करें


एक मरतबा हज़रत मूसा अलैहीस्सलाम ने अल्लाह से पूछा : ऐ अल्लाह..जब तू ख़ुश होता है तो क्या करता है..?
रब्बे कायनात ने फरमाया : मैं उस दिन बारिश बरसाता हूँ ।
मूसा अलैहीस्सलाम ने फिर पूछा - ऐ अल्लाह..जब तू ज़्यादा ख़ुश होता है तो क्या करता है..?
अल्लाह तआला इर्शाद फरमाता है मैं उस दिन ज़मीन पर बेटियों को पैदा करता हूँ ।
हज़रत मूसा अलैहीस्सलाम ने फिर पूछा - ऐ अल्लाह..जब तू सबसे ज़्यादा ख़ुश होता है तब क्या करता है..?
बारी तआला ने इर्शाद फरमाया : मैं उस दिन लोगों के घर मेहमान भेजता हूँ ।
सुभानअल्लाह
और आज अल्लाह की यही नेमतें ऐसी हैं , जो इन्सान से बर्दाश्त नहीं होतीं ।
1- बेटी
2- बारिश
3- मेहमान

👆 अल्लाह ने अपने बन्दों पे नेमते की जिनमे ऐ तीन है
🐛 अनाज में कीड़े पैदा कर दिये वर्ना लोग इसे सोने और चाँदी की तरह ज़खीरा कर लेते और लोग भूखे मर जाते
२ 💮 मौत के बाद मुर्दे के जिस्म में बदबू पैदा की वरना लोग अपने प्यारो को दफन ना करते
👼 मुसीबत के बाद सबर और सकून दिया वरना ज़िन्दगी कभी खुशगवार ना होती
📖 क़ुरान पाक को सुनने से कैंसर नहीं होता बल्की कैंसर अगर हो तो वो भी मर जाता है
📢 नमाज़ में लम्बे सजदे करने से ज़ेहन तेज़ होता है
👼 और सर दर्द और बाल गिरने से बचाता है
👆 तशहूद के दौरान ऊँगली उठाने से दिल मज़बूत होता है
🛀 वो कौन सा पानी हे जो क़यामत के रोज़ नेकियों के साथ तराज़ू में रखा जायेगा
🍶 वज़ू का पानी
🚶 अगर आप किसी को बता देंगे तो ये सदक़ा ऐ जरिया होगा
🙏 पलीज़ किसी एक को जरूर सेंड करे
👆 अल्लाह पाक हमें कहने सुनने से ज्यादा अमल करने की तौफ़ीक़ अता फरमाये

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...