हमें चाहने वाले मित्र

26 फ़रवरी 2017

अरे साहिब

अरे साहिब आप तो वैसे ही निकले ,,जैसा आपने अपने आपको बताया है ,,आपके मित्र ट्रम्प ,,अमेरिका में हमारे भारतीयों को चुन चुन कर नस्ल भेद के नाम पर मरवा रहे है ,,,अमेरिका में हमारी राष्ट्रभाषा हिंदी बोलते ही ,,,हमले हो रहे है ,,हमे हमारी राष्ट्रभाषा ,बोलने पर एहतियात का सुझाव दिया गया है ,,हमारे इंजीनियर मार दिए गए ,,,हमले अभी जारी है ,,,आपने न तो ट्रम्प से बात की ,न हमालवर अमेरिका के भारतीय दूतावास के राजदूत को बोलकर फटकार लगाई ,,,सच आप खुद को पहचान गये ,,,,,अख्तर

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...