हमें चाहने वाले मित्र

17 फ़रवरी 2017

कोटा के एक मन्दिर ,,गरडिया महादेव मन्दिर ,,,कोटा में दर्शन के लिए ,,केंद्र सरकार के वन विभाग ,,द्वारा ,,औरंगजेबी शासन की तरह मन्दिर प्रवेश के लिए पचहत्तर रूपये ,,का जजिया कर लगाया गया है ,

देश में छद्म रूप से खुद को मन्दिर समर्थित जुमलेबाज़ो की सरकार ,,देश में मन्दिर समर्थक प्रधानमंत्री ,,राजस्थान में मन्दिर समर्थक मुख्यमंत्री मंत्री ,फिर भी कोटा के एक मन्दिर ,,गरडिया महादेव मन्दिर ,,,कोटा में दर्शन के लिए ,,केंद्र सरकार के वन विभाग ,,द्वारा ,,औरंगजेबी शासन की तरह मन्दिर प्रवेश के लिए पचहत्तर रूपये ,,का जजिया कर लगाया गया है ,,कोटा की आम जनता को ,,जजियाकर वसूली के रूप में ,,इस केंद्रीय सरकार ने औरंगज़ेब की यादे ताज़ा कर दी है ,,हमारे देश में धार्मिक आस्थाओ के प्रतीक पर ,,दर्शन करने के शुल्क की परम्परा नहीं है ,,लेकिन पहली बार कोटा के गरडिया महादेव मन्दिर ,,को फारेस्ट क्षेत्र में बता कर ,,श्रद्धालुओं से पचहत्तर रूपये की वसूली की जा रही है ,,,अफ़सोस इस बात पर है कोटा की जनता ,,देवालय सुधार समिति की तरफ से इस मामले में एक सप्ताह से भी अधिक समय से आंदोलन चल रहा है ,,लेकिन कोई भी आर एस एस समर्थित ,,भाजपा का विधायक ,,भाजपा के सांसद इस मामले में आगे नहीं आये है ,,,,इससे ज़्यादा शर्म की और क्या बात होगी के धर्म के नाम पर सरकार बनाने वाले लोग ,,अब श्रद्धालुओं से भी दगा कर अवैध चौथवसूली जजियाकर की तरह वसूलने लगे है ,,प्रदेश कांग्रेस कमेटी अल्पसंखयक विभाग कोटा सम्भाग इस तरह से धार्मिक स्थलों पर श्रद्धालुओं से अवैध चौथ वसूली का विरोध करती है ,,अल्पसंख्यक विभाग इस मामले में जजियाकर हटाने की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे लोगो का तन ,मन ,,धन से समर्थन करता है ,,हमारे देश में धार्मिक स्वतन्त्रता है लेकिन फिर भी संविधान और क़ानून की भावनाओ के विपरीत किसी भी धार्मिक स्थल पर किसी भी धर्म मज़हब के लोगो से इस तरह की अवैध चौथवसूली के खिलाफ ,,कोटा समभाग अल्पसंख्यक विभाग एक जुट और ऐसी चौथवसूली के विरोध में लगे आंदोलन कारियो के समर्थन में है ,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...