हमें चाहने वाले मित्र

26 मार्च 2013

4 तरीके: इनसे बिना ऑपरेशन पथरी बाहर निकल जाएगी


4 तरीके: इनसे बिना ऑपरेशन पथरी बाहर निकल जाएगी
आजकल पथरी का रोग एक आम समस्या हो गई है। पथरी होने पर रोगी को असहनीय पेट दर्द होता है।ऐसे में
 दर्द कभी-कभी बर्दाश्त से बाहर हो जाता है।
पथरी होने पर पेशाब करने में बहुत दिक्कत होती है और कई बार पेशाब रूक जाता है। पथरी होने की कोई उम्र नहीं होती है, यह किसी भी उम्र में हो जाती है।ऐसे में कई बार पेशाब रुक जाता है।मूत्र मार्ग में इंफेक्शन हो जाता है। वर्तमान में पथरी के अधिकतर मरीज 25-45 उम्र के बीच के हैं।
 अगर आप भी पथरी से परेशान हैं तो  ये उपाय अपनाएं ....
4 तरीके इस प्रकार हैं
1. कुल्थी से
2. मिश्री व सौंफ से
3. आंवलें से
4. पानी से  


-250 ग्राम कुल्थी कंकड़-पत्थर निकाल कर साफ कर लें।
- रात में 3  लीटर पानी में भिगो दें। सवेरे भीगी हुई कुल्थी उसी पानी सहित धीमी आग पर चार घंटे पकाएं। जब 1लीटर पानी रह जाएतब नीचे उतार लें। फिर 30 ग्राम से 50 ग्राम (पाचन शक्ति के अनुसार) देशी घी का उसमें छोंक लगाएं। छोंक में थोड़ा-सा सेंधा नमक, काली मिर्च, जीरा, हल्दी डाल सकते हैं। पथरीनाशक औषधि तैयार है।
- दिन में कम-से-कम एक बार दोपहर के भोजन के स्थान पर यह  250 ग्राम पानी अवश्य पिएं।
-मूत्राशय की पथरी गल कर बिना ऑपरेशन के बाहर आ जाती है।
 - चाय, कॉफी व अन्य पेय पदार्थ, जिनमें कैफीन पाया जाता है, न पीएं। साथ ही कोल्डड्रिंक का सेवन न करें।
- नारियल पानी पीने से पथरी निकल जाती है। जौ का पानी पीने से भी पथरी निकल जाती है।
- मिश्री, सौंफ, सूखा धनिया सभी को 50-50 ग्राम मात्रा में लेकर को डेढ़ लीटर पानी में रात को भिगोकर रख दें। शाम को छानकर इन्हें पीसकर इसी पानी में घोलकर छान कर पीएं। एक बार में पूरा न पी पाएं तो कुछ समय बाद फिर पीएं।
- जीरे और चीनी को समान मात्रा में पीसकर एक-एक चम्मच ठंडे पानी से रोज तीन बार लेने से लाभ होता है15 दाने बड़ी इलायची के, एक चम्मच खरबूजे के बीज की गिरी और दो चम्मच मिश्री एक कप पानी में मिलाकर सुबह-शाम दो बार रोज पीते रहें।
 - सहजन की सब्जी खाने से गुर्दे की पथरी टूटकर बाहर निकल जाती है। आम के पत्ते छांव में सुखाकर बहुत बारीक पीस लें और आठ ग्राम रोज पानी के साथ लें।
- पका हुआ जामुन खाने से पथरी रोग में आराम मिलता है।
- आंवले का चूर्ण मूली के साथ खाने से मूत्राशय की पथरी में लाभ होता है।}
- पथरी के रोगियों को टमाटर,पालक आदि के सेवन में संयम बरतना चाहिए।
  ज्यादा पानी पीएं। एक दिन में कम से कम दो से तीन लीटर पानी पीएं।
- शरीर में पानी की कमी होने से गुर्दे में पानी कम छनता है।
- पानी कम छनने से शरीर में मौजूद कैल्शियम, यूरिक एसिड और दूसरे पथरी बनाने वाले तत्व गुर्दे में फंस जाते हैं जो बाद में धीरे-धीरे पथरी बन जाते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...