हमें चाहने वाले मित्र

24 अप्रैल 2017

तो क्या हुआ ,,तुम सत्ता में ,,आ गए ,

तो क्या हुआ ,,तुम जीत गए ,,,,तो क्या हुआ ,,तुम सत्ता में ,,आ गए ,,,तो क्या हुआ ,,तुम शासन चला रहे हो ,,,अभी भी तुम सुप्रीम कोर्ट को गाली देते हो ,,अभी भी तुम सड़को पर ,,आने जाने वालों को रोक कर हत्याएं कर देते हो ,,अभी भी तुम आई पी एस के घरों में घुस कर तोड़ फोड़ करते हो ,,अभी भी तुम उद्योग बंद कराते हो ,,अभी भी तुम किसानो की समस्याओ को अनदेखी करते हो ,,अभी भी तुम उद्योगपतियों के विज्ञापन का हिस्सा बनते हो ,,तो क्या हुआ तुम सत्ता में हो तो ,,,अभी भी तुम ,,चुनाव के वक़्त किये गये अपने वायदे नहीं निभाते हो ,,तो क्या हुआ तुम चौकीदार बन गए तो ,,सीमाओं ओर भी भी दुश्मन के छद्म आतंकवादी सैनिक उत्पात मचाते है ,,तुम साडी देने जाते हो ,,वोह सैनिक शिविरों पर गोलियां बरसाते है ,,तो क्या हुआ ,,तुम सत्ता में आये तो ,,अभी भी तुम ,,सच से भागते हो ,सिर्फ अपने नशे में बहके लोगो को उकसाकर ,,सड़को पर उत्पात कराते हो ,,,ऐसे लोगो से झूंठ फरेब के साथ ,,मीडिया ,,सोशल मीडिया पर लोगो को गरियाते हो ,तो क्या हुआ ,,तुम कांग्रेस मुक्त भारत का नारा देते हो ,,फिर भी तुम हर रोज़ कांग्रेस युक्त हो जाते हो ,,तो क्या हुआ तुम इंसाफ की बात करते हो ,,फिर भी तुम रोज़ सड़को पर इन्साफ के मंदिर को गरियाते हो ,,तो क्या हुआ तुम धर्म की बात करते हो ,,फिर तुम सड़को पर हर रोज़ ,,अधर्म फैलाते हो ,तो क्या हुआ तुम्हे शीशा कोई दिखाता है तो तुम उस शीशे को ,,उसे दिखाने वाले को हर रोज़ तोड़ कर बिखरवा देते हो ,,तो क्या हुआ ,,तो क्या हुआ ,,,,तुम कुछ करो ,,अपने गिरेहबान में झांको ,,मौक़ा मिला है कुछ करके दिखाओ ,ऐसा उदाहरण दो के तुम अपने घर की बीवी का सम्मान करते हो ताके पूरा देश अपनी बीवी का सम्मान करे ,,पूरा देश अपनी बीवी को आत्मसम्मान दे ,,देश तुम्हारी तरफ देखता है ,,देश तुमसे सवाल का जवाब माँगता है ,,,,मगर यहां तो तुम्हारे नशेड़ियों को तुमने ऐसे सवाल करने वालो को गालिया और गोलियां बरसाने के लिए किराए पर रखा है ,,देखते है ,,तुम्हारे चमचे आत्मावलोकन करते है या फिर मुझे गरियाते है ,,,,तुमने क्या कुछ क्या यह बताते है ,,या फिर अब तक कांग्रेस के नहरू ,गांधी ,,इंद्रा ने क्या किया वोह गिनाते है ,,,,एक ईंट तुमने किसी निर्माण की रखी हो तो बता देना ,,,एक योजना तुमने गरीबो के हक़ की चलाकर गरीबो को हक़ दिया हो तो दिखा देना ,,,,मिडिया मैनेजमेंट से नहीं ,,आंकड़ों से ,,सरकार की वेबसाइट पर लिख कर बता देना ,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...