हमें चाहने वाले मित्र

19 फ़रवरी 2017

137 जोड़ों ने एक साथ कबूला निकाह


सुधार का आंदोलन है इज्तेमाई निकाह- अली अनवर अंसारी 
दान दहेज की परिपाटी हो गई बंद 

कोटा ,, जनवरी। कोटा में एक बार फिर पंचायत अंसारियान समिति की ओर से विशाल इज्तेमाई निकाह सम्मेलन रविवार को दशहरा मैदान में आयोजित हुआ। जिसमें एक ही पांडाल के नीचे 137 जोड़ों ने एक साथ निकाह कबूलकर हमसफर बने। पंचायत अंसारियान समिति के सदर लियाकत हुसैन अंसारी ने बताया कि सम्मेलन में मुस्लिम समाज के विभिन्न जातियों के जोड़े शामिल हुए, जिन्हें शहर काजी अनवार अहमद की मौजूदगी में निकाह पढ़ाया गया। कोटा, के अलावा प्रदेश के अन्य जिले और गुजरात, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश सहित अन्य राज्यों के जोड़े इस बार भी शामिल हुए। समिति के सदर अंसारी ने बताया कि नवविवाहित जोड़े और उनके परिवार को मुबारकबाद देने के लिये बिहार से राज्य सभा सांसद अली अनवर अंसारी, ओबीसी एससी आयोग के पूर्व काॅर्डिनेटर ताजुद्दीन अंसारी, आॅल इंडिया मोमीन काॅन्फ्रेंस के राष्ट्रीय अध्यक्ष व सुप्रिम कोर्ट के अधिवक्ता फिरोज अहमद अंसारी, राज्य हज कमेटी के चैयरमेन अमीन पठान, मदरसा बोर्ड की चैयरमेन मेहरूनिशां टांक, विधायक संदीप शर्मा, चंद्रकांता मेघवाल, बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष मजीद मलिक कमांडो, उपाध्यक्ष फारूक राणा, कांग्रेस नेता पंकज मेहता, नईमुद्दीन गुड्डू, जफर मोहम्मद, रचना राठौर सहित अन्य अतिथि मौजूद रहे। सभी ने मंच से अपने उद्बोधन में इज्तेमाई निकाह सम्मेलन के आयोजन की सराहना की और लोगों को फिजुलखर्ची से बचने की बात कही। इस मौके पर पंचायत अंसारियान समिति के सदर लियाकत हुसैन अंसारी, जनरल सेके्रट्री अनवर हुसैन सहित सभी पदाधिकारियों ने मेहमानों को स्वागत सम्मान किया। मंच का संचालन मुश्ताक अहमद व दानिश अंसारी ने किया। 

सुधार का आंदोलन है इज्तेमाई निकाह सम्मेलन
सम्मेलन में शिरकत करने बिहार से आए राज्य सभा सांसद अली अनवर अंसारी ने अपने उद्बोधन में कहा कि जब से सामूहिक विवाह सम्मेलन शुरू हुए उनसे फिजुलखर्ची रूकी है और सम्मेलन समाज में फैली बुराई का सुधार का आंदोलन साबित हो रहे है। साथ ही उन्होनें यह भी कहा कि इससे दान दहेज की परिपाटी भी बंद हो रही है। 

मां ही दे सकती बच्चों को बेहतर तालीम-
सम्मेलन में निकाह के बाद शहर काजी अनवार अहमद ने कहा कि मां ही ऐसी शख्यिसत है जो बच्चे को अंगुली पकड़कर चलना सिखाती है ऐसे ही मां का पहला फर्ज यह भी है कि वह अपनी औलाद हो बेहतर तालीम दे और उसकी परवरिश करें।

अगले सम्मेलन के 5 जोड़े जायेंगे उमराह पर 
इस सम्मेलन में ताजिम टूर एंड ट्रेवल्स द्वारा एक जोड़े को उमराह कराया जायेगा, जिसका चयन लाॅटरी से किया गया। वहीं ओबीसी एससी आयोग के पूर्व काॅर्डिनेटर ताजुद्दीन अंसारी ने मंच से घोषणा की है कि अगली बार आयोजित होने वाले पंचायत अंसारियान समिति के सम्मेलन में शामिल होने वाले 5 जोड़ों को खुदा की बारगाह में जाने का मौका दिया जायेगा, उन्हें उमराह कराया जायेगा। 

एक लाख लोग शामिल हुए इज्तेमाई निकाह प्रोग्राम में
हर बार की तरह इस बार भी इज्तेमाई निकाह प्रोग्राम को कम खर्च से ज्यादा बेहतर बनाया गया। सम्मेलन में करीब 1 लाख लोग शामिल हुए, सभी शाही कढ़ी, नुक्ती का लुत्फ उठाया। भोजन की इस व्यवस्था को वाॅलियंटर की विशेष टीम ने संभाला। जिससे मेहमानों को तकलीफ महसूस नहीं हुई।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...