हमें चाहने वाले मित्र

09 जनवरी 2017

सचिन पायलेट के नेतृत्व में,,, कोंग्रेस को मज़बूत ,,निर्गुट ,,एकजुट बनाने के प्रयास शुरू

कोंग्रेस के उपाध्यक्ष ,,,,राहुल गाँधी के निर्देशो पर ,,राजस्थान में ,,,सचिन पायलेट के नेतृत्व में,,, कोंग्रेस को मज़बूत ,,निर्गुट ,,एकजुट बनाने के प्रयास शुरू हो गए है ,,सचिन पायलेट के नेतृत्व में,,, कोंग्रेस के जांबाज़ सिपाहियों की टीम,,, अब ज़िलों के प्रभार क्षेत्र ,,प्रभारी सक्रिय हो गए है ,,अब लगता है ,,,जो कार्यकर्ता काम करेगा ,,वही मंज़ूर होगा ,,,और जो व्यक्तिवाद या अनुशासनहीनता को बढ़ावा देगा ,,उसकी अब ,,खेर नहीं रहेगी ,,,आज कोटा संभाग के,,, बारां ज़िले के किशनगंज में ,,नेताओ के क़ाफ़िले पर ,,गुटबाज़ी के कारण,,, जहॉ हमला हुआ ,,उसे कोंग्रेस हाईकमान ने ,,,,,से लिया है ,,राजस्थान के पूर्व मंत्री ,,,भरत सिंह ,,,उनके क़ाफ़िले पर ,,,बारां किशनगंज के स्थापित ,,,पदाधिकारियो का हमला ,,नारेबाजी ,,दुखद है ,,एक तरफ ,,,इसी ज़िले से जहाँ ,,राहुल गाँधी की,,, सफल सभा के बाद ,,कोंग्रेस ज़िंदाबाद हुई ,,देश में कोंग्रेस की जीत का ,,शंखनाद हुआ ,,वहीँ दूसरी तरफ ,,कुछ कथित ,,हठधर्मी नेताओं ने ,,कोंग्रेस को तोड़ कर ,,बिखेरने की साज़िश रची है ,,जो वर्तमान,, अनुशासन प्रिय कोंग्रेस ,,,हाईकमान को ,,,क़तई मंज़ूर नहीं ,,,हाडौती में ,,,एक दूसरे को हराना ,,एक दूसरे को,, नीचा दिखाना ,,परम्परा बन गयी है ,,लेकिन अब वोह दिन नहीं रहे ,,के कोंग्रेस के पर्यवेक्षक ,अश्क अली टाक का बारां में काला मुंह कर दिया जाए ,,और किसी के खिलाफ ,,कोई कार्यवाही न हो ,,अब वोह दिन भी नहीं रहे ,,के कोंग्रेस के टिकिट पर जीते ज़िला परिषद के ,,,बारह सदस्यो में से,,, कोंग्रेस के टिकिट पर,,, चुनाव लड़ने पर ,,तीन कोंग्रेस के वोट ,,,भाजपा में चले जाए ,,,भाजपा का ज़िला प्रमुख जिताया जाए ,,और हाईकमान ,,,कुछ न करे ,,अब वोह दिन भी नहीं रहे ,,,के कोंग्रेस के ज़िला प्रमुख ,,,के दूसरे चुनाव में भी ,,,कोंग्रेस का बहुमत होते हुए ,,भाजपा जीते और,,, कोंग्रेस हार जाए ,,,, ऐसा करने वालो को ,,,पदाधिकारी बना दिया जाए ,,अब ,,,गए अनुशासनहीनता के दिन ,,,अब कोंग्रेस में मज़बूती के लिए ,,अनुशासन के डंडे के ,,इस्तेमाल का भी वक़्त है ,,बारां में भरत सिंह के काफिले पर ,,,पूर्व चेतावनी के साथ जो कार्यवाही हुई है ,,वोह योजनाबद्ध होने से और गम्भीर हो गयी है ,,कोंग्रेस हाईकमान ऐसे अनुशासनहीन कोंग्रेस कार्यकर्ताओ ,, कोंग्रेस की खाल में छुपे उनके भेड़िये नेता को,,, तलाश कर सज़ा देगी ,,बख्शेगी नहीं ,, क्योंकि अब ,,,राजस्थान कोंग्रेस के सुप्रीमो,,,, कोई और नहीं ,,जनता और राजस्थान की उम्मीद,,,, सचिन पायलेट है ,,जो बढ़ो का अपमान और अनुशासन हीनता ,,,किसी भी कीमत पर ,,क़तई बर्दाश्त नहीं करते ,,, ,,क्योंकि सभी जानते है अगर एक ज़िले से दूसरे ज़िले में जाने वाले नेताओ का अपमान किया जाने लगेगा तो फिर कोटा में भी आने वाले उस ज़िले के नेता अपमान से अछूते नहीं रहेंगे ,,इसलिए अनुशासनहीनता के इस फन को उठने के पहले ही पैरो तले कुचल देना ज़रूरी हो गया है ,,,, ,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...