हमें चाहने वाले मित्र

25 जनवरी 2017

विश्व के सबसे बढे लोकतंत्र ,

विश्व के सबसे बढे लोकतंत्र ,,,,विश्व के अनेकता में एकता वाले ,,मेरे इस भारत महान के ,,महान लोगो ,,,देखलो ,,संविधान तो बनाया है ,,लेकिन आप और हम ,,अभी भी आज़ादी ,,बराबरी ,,ज़ुल्म ज़्यादती से आज़ादी ,,साम्प्रदायिक सद्भाव ,,बेटी बचाओ ,,बेटी पढाओ ,,खुले में शौच बचाओ ,,नोटों को बदलो ,,सब छोडो सिर्फ पंतजलि का माल खाओ का संघर्ष कर रहे है ,,दोस्तों हम लोकतंत्र ,,गणतन्त्र के वोह लोग है ,,जो हमारे वोट से ,,हमारे नेता को चुनते है ,,हमारी सरकार को चुनते है और हमारी यह सरकार हमसे किये गए सभी चुनावी वायदे भूल जाती है ,,हम सो जाते है ,,फिर पांच साल बाद ,,यही लोग आते है ,हम इन्ही लोगो की जय जयकार करते है ,,यही है हमारा लोकतंत्र ,,,लेकिन फिर भी मेरा लोकतंत्र है ,,लिखित में तो सबसे अच्छा है ,,इसे लागू करवाने के लिए आओ हम और आप मिलकर संघर्ष करे ,,इस लोकतंत्र को ज़िंदाबाद करे ,,संकल्प ले हर चुनाव में अब वायदे नहीं ,,पार्टियां नहीं ,,सिर्फ इंसान की छवि देखकर नयी सरकार को चुने ,,जय गणतन्त्र ,,जय जवान ,, जय किसान ,,जय भारत ,,जय हिंदुस्तान ,,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...