हमें चाहने वाले मित्र

26 दिसंबर 2016

देश में ,,कोंग्रेस की जीत का शंखनाद बज गया है

राजस्थान प्रदेश कोंग्रेस कमेटी के सचिव ,,लाडपुरा विधानसभा क्षेत्र के प्रत्याक्षी रहे ,,बारां ज़िला प्रभारी ,,,,,नईमुद्दीन गुड्डू के कार्यक्षेत्र बारां ,,में ,,,राष्ट्रिय उपाध्यक्ष राहुल गांधी की ,,देश की आज तक ,,की ,,सबसे बढ़ी और कामयाब सभा के साथ ही,, देश में ,,कोंग्रेस की जीत का शंखनाद बज गया है ,,बारां में कोंग्रेस के सभी गुट,,, एक साथ थे ,,अव्यवस्थाओ और विशेष पास व्यवस्था में नज़रअंदाजी और पक्षपात के बाद भी ,,,सब ,,,अपने अपने मोर्चो पर ,,,डटे हुए थे ,,प्रमोद भाया ,,,पूर्व मंत्री तो इस सभा के मेज़बान थे ,,लेकिन नईमुद्दीन गुड्डू का प्रभार क्षेत्र होने से ,,,उनके सामने दोहरी ज़िम्मेदारी होने से ,,उनके समक्ष कढ़ी चुनोती थी ,,जिसे उन्होंने ,,कामयाबी से पूरा किया ,,नईमुद्दीन गुड्डू ने,,, बारां की इस सभा के लिए ,, सभी व्यवस्थाओ में योगदान के साथ साथ ही ,,कोंग्रेस कार्यकर्ताओं को क्षेत्र में भीड़ जुटाने के प्रयासों में भी लगाया ,,और इस आमसभा में ,,,प्रमोद भाया के बाद ,,,सर्वाधिक लोगो को लेजाकर,, आमसभा की संख्याबल दिखाने के मामले में,,, नईमुद्दीन गुड्डू ने दूसरे नम्बर पर ,,,अपना वर्चस्व दिखा दिया है , इस मामले में ,सभी व्यवस्थाएं ,,उन्होंने खुद अपने निजी रूप से की है ,,वोह बात अलग है ,,,के नींव की ईंट बने ,,,,नईमुद्दीन गुडु आखरी वक़्त तक,,, अपने प्रभार क्षेत्र में ,,,आये कार्यकर्ताओ ,,नेताओ से सम्बन्धित ज़िम्मेदारियाँ सम्भालते रहे ,,, ,जबकि ,,कुछ लोग गिनती के लोगो के साथ पहुंचकर भी कंगूरे बनने की कोशिशो में जुटे थे ,,,आज की यह आमसभा ,,देश की सबसे बढ़ी आमसभा ,,सबसे कामयाब आम सभा और राहुल गांधी को ज़िंदाबाद साबित करने की विशिष्ठ सभा साबित हुई है ,,इस सभा के बाद ,,राहुल गाँधी के सर पर ,,,कोंग्रेस के राष्ट्रिय स्वतन्त्र नेतृत्व का ताज रखा जाए ,,उन्हें शीघ्र ही कोंग्रेस का राष्ट्रिय अध्यक्ष निर्वाचित कर ,,राष्ट्रिय अध्यक्ष की ज़िम्मेदारी दी जाए ,,इसके लिए इस कामयाब सभा ने ,,कोंग्रेस हाईकमान को जल्दी ही फैसला लेने पर मजबूर कर दिया है ,,राहुल गांधी की आज की ,,आक्रामक भाषण शैली से,, विरोधी हतप्रभ है ,,कई विरोधियो की हवाइयां उड़ गयी है ,,और देश में,,, इस सभा के बाद,,,कोंग्रेस के जयघोष के नारे के साथ ,,, सत्ता में फिर वापसी की शुरुआत हो गयी है ,,बस ,,,, कोंग्रेस के वरिष्ठ लोगो को ,,,ज़िम्मेदारों को ,,चुगलखोरो और दलित ,,मुस्लिम विरोधी लोग जो ,, हाफ पेंट वर्तमान फूल पेंट की विचारधारा,,, सन्स्क्रति से आये है,,दलित अल्पसंख्यको को उपेक्षित ,,हतोत्साहित करते है ,,सभाओ में ,,कोंग्रेस की बैठको में अल्पसंख्यक विभाग के पदाधिकारियो को सम्बोधित भी नहीं करते है ऐसे लोगो की विचारधारा से दूर रहकर सावधानी बरतना होगा ,,,क्योंकि ऐसे लोगो को तरजीह देता देख यह पूरा तबक़ा कहता तो कुछ नहीं है ,,बस चुनाव के वक़्त नाराज़गी अपने अंदाज़ में बता देता है,,इसका नुकसान कोंग्रेस को चुनाव में होता है ,,ऐसे में ऐसे लोग जो दलित और अल्पसंख्यको उनके स्थापित संगठन के पदाधिकारियो को नज़रअंदाज़ करते है उन्हें चिन्हित कर ,,प्रभावशाली स्थानों से अलग थलग करना होगा ,,क्योंकि सो में से सो वोट देने वालो की अहमियत करने वाले यह लोग इनके समाज के सो में से पांच वोट भी दिलवा पाने में कामयाब नहीं होते है और पटेलाई पूरी करके संगठन को मटियामेट करने की ज़िद पर अड़ जाते है ,,अख्तर

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...