हमें चाहने वाले मित्र

05 दिसंबर 2016

एक बात बताओ,,, तुमने देश के लिए क्या छोड़ा ,,,क्या त्याग किया ,,

एक बात बताओ,,, तुमने देश के लिए क्या छोड़ा ,,,क्या त्याग किया ,,,तुम कहीं के,,, राजा महाराजा तो थे ,,नहीं ,,,जो देश के लिए सभी धन दौलत ,,ऐशो आराम ,,,का त्याग करके आये हो ,,हाँ ,,तुम्हे देश ने कई बार ,,,मुख्यमंत्री बनाया ,,प्रधानमंत्री बनाया ,,देश और देशवासियो का,, तुम पर क़र्ज़ है ,,तुम्हारा देश पर क़र्ज़ नहीं ,,समझो ,,देश पर तुम अहसान नहीं कर रहे हो ,,देश तुम पर अहसान कर रहा है ,,फिर,, इस क़र्ज़ को उतारो ,,,कोरी झूँठ ,,भ्रामक बातो से नहीं ,,देश के हालात समझो ,,देश और देशवासियो को ,,,इंसान समझो ,,इसके दो हिस्से मत करो ,,सिर्फ और सिर्र्फ पांच प्रतिशत अमीर दोस्तों ,,अख़बार वालो के लिए ,,देश ,,देश के हालात ,,देश के निवासियों का,,, सब कुछ दांव पर मत लगाओ ,,,,देश और देश वासियो के ,,,अहसान के बोझ तले ,,,आप दबे है ,,, अब्राहम लिंकन,, लकड़हारे से जब बढे आदमी बने ,,तो उन्होंने देश का क़र्ज़ उतारा ,,लेकिन अब ,,तुम्हे भी चाय बेचने वाले से ,,,कई बार मुख्यमंत्री ,,फिर मुख्यमंत्री के बाद ,,,सीधे प्रधानमंत्री बनाया है ,,अजगर बनकर,,, देश और देशवासियो के साथ ,,,खुद की पार्टी ,,खुद की पार्टी की रीढ़,,, संघ के सिद्धांतो को ,,मत निगलो ,,,,देश को देश रहने दो ,,अमीरो की अमीरी तो हमेशा रहेगी ,,उनके हिमायती मत बनो ,,कभी गरीब के हिमायती बनकर दिखाओ ,,,,लाइन में लगे लोगो का ,,लाइन में लगे लोगो की मोतो पर,,, ठहाके मत लगाओ ,,तालियां मत बजाओ ,,गुमराह मत करो ,,पहले की सरकार ने,,, लाइन में लगाया,,, तो देख लो ,,,आज उस सरकार में बैठे लोग,, लाइन में लगे है ,,,फिर बताओ तुमने ,,,अपनी वालिदा,,, जिनके पैरों के नीचे जन्नत है ,,,उन्हें लाइन में क्यों ,,किसके कहने से ,,क्या साबित करने के लिए लगाया ,,एक बूढी औरत ,,,जिसे आपके प्यार ,,आपकी मदद की ज़रूरत है ,,उस पर आप ,,,सियासत कर रहे हो ,,चलो ईमानदार हो ,,मान लेते है ,,एक दिन में ,,,आप कितने रूपये के बने हुए सूट पहनते हो ,,,,यह बता दीजिये ,,सिलाई कितनी देते हो ,,धुलाई कितनी देते हो ,,,यह बता दीजिये ,,,चलो आपने,,, प्रधानमंत्री बनने के सपने को साकार करने के लिए ,,कितनी हवाई यात्राएं की ,,आपकी यात्राओ ,,सभा ,.,रैलियों ,,विज्ञापनों पर ,,,कितना खर्च आया ,,हवाईयात्राओ का खर्च ,,,किसने उठाया ,,इसे ही खुलासा कर दो ,,दूसरी पार्टियां तो चोर है ,,,आप तो ईमानदार हो ,,,बता दो ,,श्वेत पत्र जारी कर दो ,,चलो ,,लालकृष्ण अडवाणी साहिब को ,,दरकिनार क्यों किया ,,अटल बिहारी वाजपेयी के पास,, मिलने कितनी बार गए ,,बता दीजिये ,,,चलो यह बता दीजिये ,,प्रधानमंत्री बनने के बाद ,,आप ,,आपका स्टाफ ,,सहित सभी लोगो की विदेश यात्राओ पर ,,,कितना खर्च आया ,,इन यात्राओ से देश को क्या मिला ,,चलो ,,यह ही बता दीजिये ,,पाकिस्तान गए ,,नवाज़ शरीफ की शादी में ,,गिफ्ट देकर आये ,,पटाखे चलाकर आये ,,खाना खाकर आये ,,,देश को क्या मिला ,,,चलो एक सर के बदले ,,,दस सर लाने की बात हुई थी ,,वोह सर तो नहीं आये ,,लेकिन ,,आपके राज में ,,,हमारे शहीद वीर जवानों के ,,शव को क्षतविक्षिप्त किया गया ,,इस मामले में ,,आपने कितने पाकिस्तानियो के सर ,,,लाकर हमारे देश में क़लम किये ,,हमारे देश का मान बढ़ाया ,,,चलो आप ईमानदार हो ,,तीस हज़ार करोड़ रूपये के,,, आपकी सरकार ने जो ,,,एक एक हज़ार के नॉट बिना तार वाले ,,,छाप कर ,,देश में दस हज़ार करोड़ रूपये जो चलन में डाल दिए थे ,,जिसकी स्केनिंग करके ,,,कई करोड़ रूपये अपराधियों ने,,, बनाकर देश में चलाये ,,ऐसी भयंकर गलती के मामले में,,, वित्त मंत्री ,,रिज़र्व बैंक गवर्नर और शीर्ष अधिकारियो के खिलाफ ,,,,आपने क्या किया ,,,वित्त मंत्री से इस्तीफा क्यों नहीं लिया ,,चलो,,, काला धन ,,,एक हज़ार रूपये में ,,,खूब घरो में जमा था ,,तो फिर इस काले धन की राशि को जमा करने के लिए ,,,दो हज़ार का बढ़ा नॉट क्यों छपवाया ,,,नोटबन्दी के साथ ही दो हज़ार का नॉट बाजार में कैसे आया ,,चलो यह बता दो ,,जब आम आदमी ,,राहुल गांधी ,,आपकी वालिदा श्रद्धय माता जी को लाइन में लगकर दो हज़ार रूपये मिल रहे है ,,तो ,,अपराधियो के पास ,,आतंकवादियो के पास,,, दो दो हज़ार के लाखो करोडो रूपये ,,,कहाँ से आये ,,,नहीं बता पाओगे ,,नहीं जवाब दे पाओगे ,,हाँ इन सवालो पर ,,,में आपके एडिक्ट से गालियाँ ज़रूर खाऊंगा ,,,,कुतर्को की बौछारे जो होंगी ,,उन्हें सहूंगा ज़रूर ,,उनकी नफरत का हिस्सेदार ज़रूर बनूँगा ,,लेकिन आदरणीय ,,,यह जो लोग है न ,,,देश से प्यार करते है ,,देश के लिए जीते है ,,आपसे ,,,इन्हें बहुत उम्मीदे है ,,इन की कसौटी पर,,, आप खरे उतरे ,,वरना यह जो भक्तजन है न ,,,,प्यार करना जानते है ,,आपके लिए मरना ,,मारना जानते है,,, तो यह लोग देश के लिए ,,देशवासियो के लिए ,,,आपके गिरेहबान तक भी ,,,अपने हाथ डाल सकते है ,,इसलिए प्लीज़ ,,अभी भी बदल लो खुद को ,,आटा ,,दाल बेचने वाले ,,किराने व्यापारियों ,,देश के गरीबो का खून चूसने वाले ,, अमीरो का साथ छोड़ दो ,,गरीबो के बारे में सोचो ,,जो वायदे किये है पुरे करो ,,देश आपके साथ है ,,हमारे सेनिको के शिविरों में घुसकर ,,,उन्हें सोते हुए शहीद करने वाले ,,,पाकिस्तान का नक़्शा ,,नामो निशाँन विश्व के नक़्शे से मिटा दो ,,हम आपके साथ है ,,,बातो के अलावा कुछ करके तो दिखाए ,,मेरे भाइयो के भाई ,,,मेरी बहनो के भाई ,,माताओ के पुत्र ,,पिताओ के पुत्र ,,देश के लिए सोचो ,,खूब घूम लि

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...