हमें चाहने वाले मित्र

30 अक्तूबर 2016

कितना बदल गया है मीडिया ,,कितना बदल गए है भक्त जन ,,कितना बदल गए है नरेन्द्र मोदी और उनके चापलूस चिंतक ,

कितना बदल गया है मीडिया ,,कितना बदल गए है भक्त जन ,,कितना बदल गए है नरेन्द्र मोदी और उनके चापलूस चिंतक ,,,,,,,,प्रधानमंत्री जब मनमोहन सिंह थे ,,नरेन्द्र मोदी खुद प्रधानमंत्री बनने की कोशिशो में ,,नए नए जुमलो से ,,जनता को बरगला रहे थे ,,तब पाकिस्तान के नृशंस हत्यारे हमारे सेनिको का सर ले गए थे ,,भक्तजन ,,मिडिया और खुद नरेन्द्र मोदी उनके चमचो ने कहा था ,,,यह लव लेटर लिखना बन्द करो ,,,हम छप्पन इंच के सीने वाले ,,,अगर सत्ता में होते तो एक  सर के बदल दस दस सर ले आते है ,,नरेंद्र मोदी के बरगलाने में लोग आये ,,लोग एक के बदले दस सर चाहते थे ,,छप्पन इंच के सीने वाले बहादुर को चाहते थे ,,इसीलिए नरेन्द्र मोदी साहिब को प्रधानमंत्री बना दिया ,,लो अब परमाणु का रिमोट आपके हाथ में ,,सेना के तीनो जनरल आपके हाथ में ,,फिर भी पाकिस्तान हमारे सैनिक का सर उनके शव को विक्षिप्त करके ले गया ,,,अरे मिडिया वालो कहा गए तुम लोग ,,अरे भक्त जनो कैसे बदल गए तुम लोग ,,,अरे छप्पन इंच के सीने वाले प्रधानमन्त्री साहिब ,,,नहीं ला सकते एक के बदले दस सर तो मांगो जनता से माफ़ी ,,छोड़ दो सत्ता ,,,किसी सैनिक को सोंप दो ,,,या नोजवान सोंप दो ,,फिर देखो एक के बदले दस सर नहीं पूरा पाकिस्तान सर से अलग धड़ो से अटा पढ़ा होगा ,,,मोदी सर बेफिज़ूल की बयानबाज़ी से रोज़ मर रहे सैनिक जिन्हें एयर एम्बुलेंस उपलब्ध नहीं कराई जा रही है ,,,जिन्हें पाकिस्तान की सीमा में घुसकर उसे नेस्त नाबूत करने का कमांड नहीं दिया जा रहा है ,,अब बगावत पर है ,,,आपके प्रबन्धन को भी दाद देना होगी ,, सेना का प्रमुख था उसे तो आपने बर्फ में लगा दिया और जो सेना का काम नहीं जानता था सिर्फ संघ संघ संघ में लगे रहते थे उन्हें देश की रक्षा का ज़िम्मा सोंप दिया ,,अभी भी कुछ नहीं बदला है ,,कुछ अदला बदली करो सैनिक के हाथ में रक्षा मंत्रालय दो ,,,अन्ना हज़ारे तो आप से कुछ कहेंगे नहीं वोह तो बस केजरी केजरी का जाप करते है ,,,आप से तो अन्ना प्यार करते है ,,,आखिर आपको मकान बनाने के लिए मुफ्त ज़मीन दी है उन्होंने और अब वोह खुद सैनिक होकर भी देश के इन हालातो पर चुप्पी साधे बैठे है क्योंकि वोह आप से डर गए है ,,,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...