हमें चाहने वाले मित्र

11 मार्च 2016

हमारे आदरणीय चौकीदार साहब ,,

हमारे आदरणीय चौकीदार साहब ,,देखिये ना माल्या सर ,,देश छोड़ कर आपकी सी बी आई ,,आपकी पुलिस ,,आपकी सिक्योरिटी को धता बताकर ,,,देश से बेंको में जमा लोगों के करोडो रूपये लेकर भाग गए ,,देखिये न चौकीदार साहब ,,,चीन में चीन के फौजियों ने फिर हमे ललकारा है ,,,,देखिये ना आप तो चुप है ,,आपके बाबा रामदेव चुप है ,,आपके अन्ना चुप है ,,आपके रक्षामंत्री वी के सिंह साहब चुप है ,,माल्या पर जेठली साहब उन्हें कैसे लाये इस पर नहीं बोलते है ,,कांग्रेस ने क्या किया इस पर बोलकर लोगों का ध्यान बंटाने की कोशिश करते है ,,,कुर्सी के लालची ,,सुविधाभोगी ,,छद्म राष्ट्रवादी लोग ,,अपनी यूनिफॉर्म कोड को तय करने में लगे है ,,,राष्ट्रीयता के हंगामे में असफल होने के बाद ,,किसी और विवादित जुगत में जुट गए है ,,,वोह कभी चीन द्वारा हमला करने ,,चीन द्वारा घोसपेठ करने के मामले में राष्ट्रीयता वाला ,,छप्पन इंच वाला बयान नहीं देते ,,कभी प्रदर्शन नहीं करते ,,इन छद्म राष्ट्रभक्तो ने कभी चीन द्वारा दबाई गई हमारे भारत माँ की ,,भूमि पर जाकर वन्देमातरम कहकर ,,तिरंगा फहराने का साहसिक कार्यक्रम नहीं बनाया ,,धोकीदार साहब यह क्या हो रहा है ,,,,आप चमचो से घिर गए है ,,आपके अपने ही आपको  बेगाना कहने लगे है ,,,,प्लीज़ कुर्सी मिल गई ,,अब इस कुर्सी को सम्भालो ,,देश सम्भालो ,,छद्म राष्ट्रवादियों की गुलामी से आज़ाद होकर ,,संवेधानिक राष्ट्रवाद  की तरफ आगे बढ़ो ,,चीन को ललकारो ,,जो भी दोषी है ,,भ्रस्ट है ,,राष्ट्रविरोधी है ,,अराजकता फैलाने वाले है ,,,वोह चाहे में रहूँ ,,मेरे अपने लोग रहे ,,प्रतिपक्ष के रहे ,,आपके अपने लोग रहे ,,,उन्हें जेल में डालो ,,देश के साथ छद्म राष्ट्रीयता का खेल मत खेलो प्लीज़ ,,देश के स्कूलों में शिक्षा  सुविधाओ की ज़रूरत है ,, बेरोज़गारों को रोज़गार की ज़रूरत है ,,गरीबों को उत्थान की ज़रूरत है ,,,,देश की सीमाओ को सुरक्षा की ज़रूरत है ,,देश को सुकून शांति की ज़रूरत है ,,देश के मरीज़ों को मुफ्त इलाज की ज़रूरत है ,,देश के लोगों को आंतरिक शान्ति की ज़रूरत है ,,चौकीदार साहब देश इन दो सालों में तंग आ गया है ,,आपके इन गिने चमचो से ,,आपको रिमोट से चलाने वाले छद्म राष्ट्रवादियों से ,,प्लीज़ इन से बाहर निकलो ,,एक अलग आज़ाद दुनिया बनाओ ,,खुशहाल देश बनाओ ,,,हम आपके साथ है ,,देश आपके साथ है ,,देश का हर बुद्धिजीवी आपके साथ है ,,,,,,चौकीदार साहब सच आप जैसा बोलते थे ,,जो आप बोल चुके है ,,प्लीज़ वैसा पूरी तरह नहीं तो केवल दस प्रतिशत ही बन जाइए देश चल जाएगा ,,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...